Madhya Pradesh By Elections 2020: High Court order is big shock for Kamal Nath-Shivraj singh chouhan-jyotiraditya Scindia

मध्य प्रदेश में ‘कमल’ खिलाने की राह आसान, बसपा प्रमुख मायावती का बड़ा ऐलान

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोमल बड़ोदेकर

भोपाल, 12 दिसंबर। मध्य प्रदेश विधान चुनाव में किसी को भी पूर्ण बहुमत नहीं मिलने से जोड़-तोड़ की राजनीति का सिलसिला शुरू हो चुका है। 230 विधानसभा सीटों वाले प्रदेश में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। कांग्रेस को 114 सीटों पर जीत मिली है। वहीं 200 पार का नारा देने वाली बीजेपी 109 पर सिमट गई है।

इसके अलावा बहुजन समाज पार्टी के खाते में 2, समाजवादी पार्टी के खाते में 1 सीट आई हैं।  जबकी चार निर्दलीय उम्मीदवार जीतने में कामयाब रहे। किसी को भी पूर्ण बहुमत नहीं मिलने से सबसे बड़े ‘गेम चेंजर’ बीएसपी, एसपी और निर्दलीय विधायक साबित हो सकते हैं। 

ALSO READ:  मध्य प्रदेश मंत्रीमंडल की लिस्ट मोदी-शाह ने की फाइनल, सिंधिया से किया वादा निभाया

हांलाकि कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस पहले ही सरकार बनाने का दावा राज्यपाल के पास कर चुकी है। वहीं इस बीच मायावती ने बड़ा दिल दिखाते हुए पहले ही ऐलान कर दिया है कि उनकी पार्टी खुलकर कमलनाथ और कांग्रेस को सपोर्ट करेगी।

बसपा प्रमुख मायवती ने कहा है कि बीजेपी अपनी गलत नीतियों के चलते हारी है। बीजेपी से जनता परेशान हो चुकी है। बीजेपी और कांग्रेस दोनों के शासन में यहां काफी उपेक्षा हुई है। आजादी के बाद केंद्र और राज्य में ज्यादातर यहां कांग्रेस ने ही राज किया लेकिन कांग्रेस के राज में लोगों का भला नहीं हो पाया।

ALSO READ:  AAP के 'विकास'पुरी में कीचड़ ही कीचड़, कमल खिलाने निकले BJP के संजय सिंह

इसके बाद उन्होंने अगर कांग्रेस बाबा साहब अंबेडकर के साथ मिलकर विकास का काम सही से किया होता तो बसपा को अलग पार्टी बनाने की जरूरत नहीं पड़ती।  उन्होंने कहा कि दोनों ही सरकार में दलितों की उपेक्षा हुई है। लेकिन बीजेपी से जनता त्रस्त है इसलिए हम कांग्रेस को समर्थन दे रहे हैं अगर जरूरत पड़ी तो हम राजस्थान में भी कांग्रेस को समर्थन देंगे।