Home » मथुरा: पटरी से उतरे मालगाड़ी के चार डिब्बे, बड़ा हादसा होने से टला

मथुरा: पटरी से उतरे मालगाड़ी के चार डिब्बे, बड़ा हादसा होने से टला

मथुरा रेल हादसा
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मथुरा में रविवार के दिन रेलवे लाइन पर बड़ा हादसा होने से टल गया। थाना वृंदावन क्षेत्र में जैत छटीकरा के बीच एक मालगाड़ी पटरी से उतर गई। जिसमें की चार डब्बे क्षतिग्रस्त हो गए। मालगाड़ी आगरा से दिल्ली के लिए जा रही थी। रविवार सुबह 10 बजकर 2 मिनट पर ये हादसा हुआ है।

ड्यूटी पर तैनात रेलवे कर्मचारी विजय कुमार ने बताया कि एक्सल टूटने की वजह से यह हादसा हुआ है। मालगाड़ी लोहे की सरिया लेकर आगरा से दिल्ली जा रही थी। खम्मा नंबर 1408 पर ये हादसा हुआ है। गनीमत ये रही कि किसी को भी जान की हानि नही हुई। हालांकि डिब्बे पटरी से उतरने के बाद पूरा रेलमार्ग बाधित हो गया। घटना की सूचना मिलते ही रेलवे के अधिकारी व कर्मचारियों में हड़कम्प मच गया। सभी कर्मचारी ट्रैक को ठीक कर डिब्बों को पटरी पर चढ़ाने में लग गए। वहीं रेलवे डिपार्टमेंट के उच्चाधिकारी इसकी जांच करने में जुट गए हैं।

READ:  Video: लखनऊ में कोरोना से बुरा हाल, Bhaisakund में श्मशान ढंकती सरकार

वहीं मौके पर सीओ सदर, मथुरा व एसडीएम सदर, मथुरा क्रांति शेखर, रेलवे आगरा मंडल के सर्वे – सर्वा डीआरएम सुशील कुमार श्रीवास्तव व तमाम रेल अधिकारी मौके पर पहुंचे थे। जब Ground Report की टीम ने इस मामले के संबंधित अधिकारी से बात करने की कोशिश की तो उन्होंने 02 बार Ground Report के पत्रकार का फोन काट दिया।

आपको बता दें कि ये दुर्घटना उस वक़्त हुई है जब देश में ट्रेन संचालन ठप्प पड़ा हुए है, और 02-04 गिनी – चुनी हुई ट्रेनें ही चल रही हैं। आए दिन हम देखते हैं कि रेल मंत्री पियूष गोयल और उनकी तमाम पी.आर. एजेंसी और रेलवे के अनेक अधिकारी सोशल मीडिया ट्विटर और फेसबुक पर रेल की अच्छी और बेहतरीन लुभाने वाली तस्वीरें जनता को पेश करते है, लेकिन ये रेल गुर्घटना उन सभी की सच्चाई को बयां करती है और सरकार के दोगलेपन को उजागर करती है कि भारतीय रेल कितनी ज्यादा प्रगति पर है।

READ:  उत्तर प्रदेश में Coronavirus और Lockdown की बदहाली बताते-बताते कैमरे पर रो पड़ा रिपोर्टर

देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बुलेट ट्रेन की बात करते है लेकिन जब इस देश में 50 किलोमीटर की औसतन स्पीड चलने वाली मालगाड़ी ही नहीं ढंग से चल पा रही है तो 540 किलोमीटर की रफ्तार से चलने वाली बुलेट ट्रेन का चलना कैसे संभव हो पाएगा इसका जवाब दे पाना मुश्किल है।

हर्ष श्रीवास्तव की मथुरा, उत्तरप्रदेश से ग्राउंड रिपोर्ट

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।