#CAB के विरोध में कानपुर में भारी विरोध प्रदर्शन, पूर्वोत्तर के बाद यूपी में भी विरोध शुरू

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट । कानपुर

नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में कानपुर में हुआ भारी विरोध प्रदर्शन। पूर्वोत्तर के राज्यों में ‘कैब’ (CAB) 2019 के ख़िलाफ़ तेज़ी से फ़ैल रही प्रदर्शन की आग अब यूपी में भी फैलना शुरू हो गई है। देवबंद, अलीगढ़, फिरोज़बाद और अब कानपुर में भारी विरोध प्रदर्शन होना शुरू हो गया है। सोमवार 9 दिसंबर को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 पेश करने के तुरंत बाद ही देश भर में इसके ख़िलाफ़ आवाज़ उठना शुरू हो गई थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कानपुर में 14 दिसंबर को होने वाली राष्ट्रीय गंगा परिषद की बैठक में शिरकत करने के लिए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पहले शहर पहुंचेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 14 को  सुबह सवा नौ बजे चकेरी एयरपोर्ट पहुंच जाएंगे। इसके एक घंटे के बाद पीएम का हवाई जहाज यहां पहुंचेगा। शनिवार सुबह बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार भी बैठक में शिरकत करने के लिए यहां आएंगे।

पुलिस प्रशासन सुरक्षा को लेकर भारी इंतेज़ाम में जुटी हुई है। किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिय प्रशासन ने शहर भऱ में हाई अलर्ट जारी कर दिया है। कानपुर में #CAB 2019 को लेकर शुरू हुए प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन बेहद ही अलर्ट मोड पर है। कानपुर में ‘कैब’ को लेकर भारी विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है।

कानपुर शहर के हलीम कालेज से परेड़ यतीम ख़ाने तक हज़ारों की संख्या में लोगों ने कैब के विरोध में भारी प्रदर्शन किया। पूरा क्षेत्र जाम रहा और मार्केट भी बंद रखे गए। प्रदर्शनकारियों ने यतीम ख़ाने से आगे बढ़ने की कोशिश मगर पुलिस प्रशासन की मुस्तैदी के चलते आगे नहीं बढ़ने दिया गया।

पूर्वोत्तर के राज्यों में तेज़ी से फ़ैल रही प्रदर्शन की आग, गुवाहाटी में लगा अनिश्चितकाल कर्फ्यू

उत्तर प्रदेश के अन्य जिलों में भी विरोध जारी है। अलीगढ़, फिरोज़ाबाद, सहारनपुर, देवबंद और अब कानपुर। अलीगढ़ जिले में तनाव की स्थिति को देखते हुए चप्पे- चप्पे पर फोर्स तैनात किया गया है। दोनों जिलों में इंटरनेट सेवाएं पूरी तरह बंद कर दी गई हैं। वहीं अलीगढ़ जिला प्रशासन ने सार्वजनिक तौर पर किसी भी प्रकार के विरोध प्रदर्शन पर रोक लगा दी है। अलीगढ़ में नागरिकता संशोधन बिल के विरोध और जुमे को लेकर पुलिस-प्रशासनिक स्तर से खासी सतर्कता बरती जा रही है। इसी कड़ी में जिला प्रशासन के स्तर से जिले में देर रात तत्काल प्रभाव से शुक्रवार शाम 5 बजे तक के लिए इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं।

पूर्वोततर के कई राज्यों में लोग इस विधेयक के विरोध में सड़कों पर उतरे हुए हैं। असम, त्रिपुरा, मणिपुर, नगालैंड में बीते कई हफ्तों से इस विधेयक का विरोध जारी है। गुवाहाटी में नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन को देखते हुए कर्फ्यू लगा दिया गया है। इसके अलावा असम के 10 जिलों में 24 घंटे के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को सस्पेंड कर दिया गया है। यह प्रतिबंध आज शाम 7 बजे से शुरू होगा।

महाराष्ट्र कैडर के सीनियर आईपीएस अधिकारी ने नागरिकता बिल के विरोध में दिया इस्तीफा

बता दें कि नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ बुधवार को हजारों लोग असम में सड़कों पर उतरे। राज्य के विभिन्न हिस्सों में प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प से राज्य में अव्यवस्था की स्थिति पैदा हो गई है।