इस युवा महिला पत्रकार की गला दबाकर कर दी गई हत्या

Women journalist Jagriti singh mudered
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

बिहार के औरंगाबाद ज़िले के जम्होर थाना क्षेत्र के उसकुंधा गांव में दहेज के लिए एक होनहार पत्रकार और न्यूज़ एंकर जागृति सिंह की गला दबाकर हत्या कर देन का मामला सामने आया है। सूचना पर गांव पहुंची पुलिस ने शव बरामद कर लिया है। मौके पर ही त्वरित कार्रवाई करते हुए विवाहिता के पति बरुण सिंह व ससुर ललन सिंह को गिरफ्तार भी किया गया है।

Image

एंकर जागृति का मोबाइल चार्जर वाले तार से दबाया गया गला

जागृति सिंह दिल्ली के एक निजी न्यूज चैनल में एंकर व रिपोर्टर थीं। उनके साथियों से पता चला की वह बहुत होनहार पत्रकार थीं । जागृति के एक मित्र अंज़ार उल्लाह ने बताया कि वे बेहद शानदार एंकर थीं। हमेशा अपने काम को को पूरी लगन से किया करती थीं। अंसार ने उनकी हत्या के बाद दुख जताते हुए इंसाफ दिलाने की बात कही है । जागृति के गांव में कुछ लोगों का कहना है कि उनके पति और ससुराली जनों ने मिलकर मार डाला। एंकर जागृति की हत्या मोबाइल चार्जर वाले तार से गला दबाकर की गई।

ALSO READ : ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान जिससे पाकिस्तानी सेना खौफ खाती थी

जागृति ने आखिरी फोन काल अपनी मां को की थी जिसमें उसने अपने साथ हो रहे बुरे बर्ताव और मारे जाने की आशंका के बारे में बताया था इस मर्डर के पीछे दहेज का मामला बताया जाता है। दहेज लोभियों ने दिल्ली के निजी चैनल। में एंकर रही जागृति की हत्या करके एक सपने को बढ़ने-फूलने के पहले ही मिटा डाला।

इस मामले में जम्होर थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है जिसमें ससुराल वालों पर दहेज के लिए हत्या करने का आरोप लगाया गया है। इस मामले में मृतका की मां विमला देवी के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गई है जिसमें पति वरुण सिंह, ससुर ललन सिंह, सास शांति देवी और ननद को अभियुक्त बनाया गया है।

ALSO READ : शाहिद आज़मी : जेल में बंद बेकसूर मुस्लमानों का मुक़दमा लड़ने के चलते मार दी गई थी गोली

आवेदन में कहा गया है कि जागृति सिंह की शादी तीन साल पूर्व वरुण सिंह से हुई थी। इसके बाद वह दिल्ली पत्रकारिता करने चली गई थी। छह महीने पूर्व वह अपनी ननद की शादी में शामिल होने के लिए यहां आई थी और लॉक डाउन की वजह से यहां फंस गई। इसके बाद वह मायके चली गई थी। 10 दिनों पूर्व ही जागृति अपने ससुराल आई थी। दहेज के लिए पति, सास, ससुर और ननद प्रताड़ित कर रहे थे। 

शनिवार की रात जागृति ने धूमधाम से अपना जन्मदिन भी मनाया था जिसका परिवार वाले विरोध कर रहे थे। इसके बाद रविवार को उसकी गला दबाकर हत्या कर दी गई। जागृति का एक डेढ़ साल का मासूम बेटा भी है। जम्होर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पति और ससुर को गिरफ्तार कर लिया है। जम्होर थानाध्यक्ष शमीम अहमद ने बताया कि मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

बताया जा रहा है कि इस हत्याकांड में पुलिस प्रशासन के लोग न्याय दिलाने की बजाय प्रभावशाली आरोपियों को ही बचाने में जुटे हैं। सवाल है कि क्या इस युवा महिला पत्रकार की हत्या के दोषियों को आजीवान कारावास या फांसी का सजा हो पाएगी या पुलिस की जांच से कोर्ट इन्हें बाइज्जत बरी कर देगा?

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.