Home » जिसने दुनिया के 35 देशों में परफॉर्म किया, उसे योगी सरकार ने कव्वाली पर परफॉर्म नहीं करने दिया

जिसने दुनिया के 35 देशों में परफॉर्म किया, उसे योगी सरकार ने कव्वाली पर परफॉर्म नहीं करने दिया

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से लखनऊ में आयोजित किए गए एक कार्यक्रम में विवाद सामने आया था। यहां मशहूर कथक नृत्यांगना मंजरी चतुर्वेदी को परफॉर्मेंस के दौरान ही बीच में रोक दिया गया। आरोप है कि जब वह कव्वाली पर परफॉर्म करने वाली थीं तभी सरकारी अधिकारी आए और तुरंत कार्यक्रम बंद करने को कहा। जिसपर अब विवाद खड़ा हो गया।

इस बैट्समैन ने पाकिस्तान में न खेलने का जो कारण बताया वो पूरे पाकिस्तान को शर्मसार करता है

इस कार्यक्रम का आयोजन उत्तर प्रदेश के संस्कृति विभाग की ओर से किया गया था। कथक नृत्यांगना मंजरी चतुर्वेदी ने कहा कि शुरुआत में मुझे लगा कि यह किसी तरह की तकनीकी गड़बड़ी है लेकिन मेरे मंच पर होने के बावजूद किसी दूसरे परफॉर्मर के नाम की घोषणा होने पर मुझे वास्तविकता का पता चला। मंजरी पाकिस्तान के लोकप्रिय कव्वाल नुसरत फतेह अली खान की कव्वाली ‘ऐसा बनना संवरना मुबारक तुम्हें’ पर प्रस्तुति दे रही थीं।

अधिकारियों ने कहा,‘कव्वाली नहीं चलेगी

उन्होंने कहा, ‘पहले मैंने सोचा कि कोई तकनीकी गड़बड़ी है लेकिन ऐसा नहीं था। संगीत रुकने के बाद मैं मंच पर ही थीं कि अगली प्रस्तुति का ऐलान कर दिया गया।’

मंजरी ने कहा कि इस बीच आयोजन में मौजूद अधिकारियों ने स्टेज के आगे आकर कहा, ‘कव्वाली नहीं चलेगी, स्टेज पर कव्वाली नहीं होगी।’ मंजरी ने तुरंत माइक पर जाकर कहा, ‘अपने 25 साल के करिअर में मैंने 35 देशों में परफॉर्म किया है और कभी मुझे इस तरह बीच में नहीं रोका गया, कभी मंच से नहीं हटाया गया। मैं अपने डांस के जरिए गंगा-जमुनी तहजीब की बात करती रहूंगी।’

क्या आत्मरक्षा की आढ़ में ‘सेलेक्टिव किलिंग’ कर रही यूपी पुलिस ?

READ:  Karwa Chauth 2021: अपने लुक को रखना चाहते हैं सिंपल, ट्राई करें सेलेब्स का यह लुक

मंजरी ने बताया कि मैं अपनी 45 मिनट की परफॉर्मेस के आखिरी चरण में थी कि तभी इसे रोक दिया गया। उन्होंने कहा, ‘मुझे बाद में अपने टेक्नीशियन से पता चला कि परफॉर्मेस खत्म होने में कुछ मिनट ही बाकी थे तभी अधिकारी आए और उन्होंने संगीत रोक दिया।’ मंजरी चतुर्वेदी ने कहा कि सांस्कृतिक मामलों के दो अधिकारी बाद में बैकस्टेज मेरे पास आए और कहा कि ऐसा नहीं होना चाहिए था, लेकिन आपने बड़ी शालीनता के साथ इसे संभाला।

इस मामले पर सरकार की सफ़ाई

इस मामले में यूपी सरकार के अधिकारियों ने कहा कि मंजरी चतुर्वेदी के दो परफॉर्मेंस हो गए थे और तीसरा होने ही वाला था। लेकिन कार्यक्रम काफी लेट चल रहा था और अगला कार्यक्रम ब्रज डांस का था। आयोजकों का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आने से पहले हम सभी को मौका देना चाहते थे। क्योंकि मुख्यमंत्री के आने के बाद सीधे डिनर का कार्यक्रम था।

READ:  Student killed in fake encounter 19 years ago, SC slams UP govt

Follow us on twitter