मकर संक्राति: उज्जैन में घाटों पर 28 चेंजिंग रूम, 5 बोट 213 तैराकों की तैनाती

makar sankranti parva ujjain ram ghat dutta akhara ghat mahakaleshwar
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

चित्रांश सक्सेना | उज्जैन

देश दुनिया में आज मकर संक्राति पर्व के लिए एक ओर जहां प्रदेश के अन्य घाटों पर प्रशासन की ओर से लोगों की सुविधा के लिए बंदोबस्त किए गए हैं वहीं उज्जैन में भी मकर सक्रांति पर्व पर स्नान की विभिन्न तैयारियां प्रशासन द्वारा पूरी कर ली गई है।

नर्मदा नदी का पानी त्रिवेणी एवं गऊ घाट पर पहुंच चुका है। रामघाट एवम दत्त अखाड़ा घाट पर गंभीर का 7 एमसीएफटी पानी प्रवाहित कर दिया गया है। कलेक्टर श्री शशांक मिश्र ने बताया कि सक्रांति पर्व के लिए सुरक्षा एवं साफ सफाई की व्यवस्था भी सुनिश्चित कर ली गई है।

राम घाट एवं अखाड़ा तथा त्रिवेणी घाट की साफ-सफाई कर फव्वारे लगा दिए गए हैं। घाटों पर 12 पब्लिक टॉयले, 6 मोबाइल टॉयलेट, लाइट की व्यवस्था, 28 चेंजिंग रूम तैयार किए गए हैं ।किसी अनहोनी घटना को रोकने के लिए होमगार्ड की रेस्क्यू टीम लगाई गई है जिसमें 5 बोट 213 तैराको की तैनाती की गई है।

READ:  Rohit Sardana Death: आज तक न्यूज एंकर रोहित सरदाना का हार्ट अटैक से निधन

पुलिस द्वारा राम घाट एवं महाकालेश्वर मंदिर की ओर पहुंच मार्गों पर सुगम यातायात व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए पुलिस बल तैनात किया गया है। विद्युत विभाग को घाटों पर एवं अन्य स्थानों पर निरंतर विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है।

इसके अलावा पेयजल व्यवस्था के लिए चार टैंकर स्थाई रूप से रखे गए हैं। एक मोबाइल टैंकर द्वारा स्वच्छ जल आपूर्ति की जाएगी। स्वास्थ विभाग की तरफ से राम पर राणा जी की छतरी पर स्वास्थ्य केंद्र स्थापित किए गए हैं। आवश्यक दवाएं एवं मेडिकल टीम की भी तैनाती कर दी गई है।

बता दें कि, इस बार मकर संक्रांति का पर्व 14 जनवरी की जगह 15 जनवरी को मनाया जा रहा है। हिन्दू धर्म के मुताबिक, 15 जनवरी यानी मकर संक्रांति से पंचक, खरमास और अशुभ समय समाप्त हो जाएगा और विवाह, ग्रह प्रवेश आदि के शुभ कार्य शुरू हो जाएंगे।

READ:  Ajwain Tea Benefits: अजवाइन की चाय बीमारियों से देगी राहत, लेकिन जान लें इसे बनाने की विधि

15 जनवरी यानी मकर संक्रांति के दिन ही प्रयागराज में चल रहे कुंभ महोत्सव का पहला शाही स्नान होगा। शाही स्नान के साथ ही देश विदेश के श्रद्धालु कुंभ के पवित्र त्रिवेणी संगम में डुबकी लगाना शुरू कर देंगे।

मकर संक्रांति के पर्व को देश में माघी, पोंगल, उत्तरायण, खिचड़ी और बड़ी संक्रांति आदि नामों से जाना जाता है। बता दें कि मकर संक्रांति के दिन ही गुजरात में अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्वस मनाया जाता है।

मकर संक्रांति शुभ मुहूर्त- 
पुण्य काल मुहूर्त – 07:14 से 12:36 तक (15 जनवरी 2019)
महापुण्य काल मुहूर्त – 07:14 से 09:01 तक (15 जनवरी 2019 को)

READ:  Rohit Sardana Death: रोहित सरदाना की मौत खबर सुन कांपने लगे थे सुधीर चौधरी...