शिवराज ने कहा- कांग्रेसी आएगा, दारू बांटेगा, कंबल बांटेगा बोलो- आप फंसोगे तो नहीं ? जनता ने दिया ये जवाब..

उपचुनाव से पहले मध्य प्रदेश में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, लगी आईपीएस अधिकारियों के तबादलों की झड़ी

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्य प्रदेश उपचुनाव से पहले बड़ा प्रशासनिक फेर बदल का दौर जारी है। यहां एक नहीं, दो नहीं बल्की एक साथ चार आईपीएस अधिकारियों के तबादले कर दिए गए। इससे पहले भी सोमवार को 4 आईपीएस अधिकारियों के तबादले किये गए जा चुके हैं। प्रशासनिक अधिकारियों के तबादले एक प्रक्रिया का हिस्सा है लेकिन उपचुनाव से पहले अचानक इतने तबादले होना अपने आप में बड़ी बात है। एम.एल. छारी उप पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस मुख्यालय, भोपाल से उपपुलिस महानिरीक्षक, ग्वालियर रेंज में किया गया है।

मध्य प्रदेश राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी अब बनेंगे आईएएस-आईपीएस

इसके अलावा चंद्रशेखर सोलंकी का तबादला उप पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस मुख्यालय, भोपाल से उप पुलिस महानिरीक्षक, इंदौर पद पर किया गया है। वहीं सुशांत सक्सेना का तबादला उप पुलिस महानिरीक्षक, इंदौर से उप पुलिस महानिरीक्षक, रतलाम रेंज में किया गया है। नागेन्द्र सिंह का तबादला उप पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस मुख्यालय, भोपाल से सेनानी के पद पर हॉकफोर्स पुलिस मुख्यालय, भोपाल में किया गया है।

UPSC 2020: 4 अक्टूबर को होगी यूपीएससी की “प्री” परीक्षा, पढ़ें क्या है नया शेड्यूल…

बता दें कि इससे पहले सोमवार को भी रीवा, भोपाल और इंदौर जोन के 4 अधिकारियों का तबादला किया जा चुका है। वहीं दूसरी ओर मध्य प्रदेश राजनीतिक सरगर्मी तेज है। विधानसभा उपचुनाव (MP Assembly by-Elections) के लिए कांग्रेस में बीजेपी के बागी उम्मीदवारों को साधने में लगी है। कांग्रेस अपनी दूसरी लिस्ट में बीजेपी के कई बागी नेताओं को टिकट दे सकती है। इस पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ सहित कांग्रेस के कई दिग्गज नेता मंथन कर रहे हैं। 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस की दूसरी लिस्ट में उन बीजेपी नेताओं के नाम हो सकते हैं जहां से बीजेपी ने कांग्रेस के बागी विधायकों को टिकट दिया है।

महाराष्ट्र कैडर के सीनियर आईपीएस अधिकारी ने नागरिकता बिल के विरोध में दिया इस्तीफा

कांग्रेस पहले ही 15 सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर चुकी है। जबकी 13 उम्मीदवारों के नामों को लेकर मंथन जारी है। उम्मीद जताई जा रही है कि अगले एक हफ्ते में कांग्रेस इन सीटों पर अपने उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट जारी कर सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उपचुनाव वाले सभी विधानसभा क्षेत्रों के लिए प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ (Kamal Nath) ने तीन सर्वे कराए हैं और उसी के आधार पर उम्मीदवारों के नाम तय किए जाएंगे।

हाशिमपुरा नरसंहार : जब PAC ने 42 बेगुनाह मुस्लिम नौजवानों को गोलियों से भूनकर नहर में डाल दिया

बहरहाल, देखना होगा कि इस उपचुनाव में शिवराज-सिंधिया फैक्टर कितना सार्थक साबित होता है और कमलनाथ की रणनीति क्या रंग लाती है। चुनाव आयोग पहले ही साफ कर चुका है कि मध्य प्रदेश में उपचुनाव बिहार चुनाव के साथ ही होंगे। चुनाव आयोग ने कहा है कि नवंबर से पहले-पहले चुनाव होंगे हांलाकि तारीख की घोषणा अभी नहीं की गई है लेकिन उम्मीद जताई जा रही है कि मध्य प्रदेश में 15 नवंबर तक उपचुनाव हो सकते हैं।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।