Piue Ghosh a researcher at the Indian Institute of Technology(IIT) Gandhinagar, allegedly committed suicide by hanging himself on the night of July 3 inside her hostel room. Piue was a fifth-year PhD scholar in IIT Gandhinagar, as per the reports, parents of Puie were kept in the dark about the incident for almost 3 days.

Mumbai: कोरोना वायरस से हर 9 मिनट में एक शख्स की मौत!

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मुंबई में कोरोना संक्रमितों संख्या लगातार बढ़ रही है। देश के कुल मामलों में 33 फ़ीसदी मरीज़ अकेले महाराष्ट्र में है। मुंबई में हर 9 मिनट में एक कि मौत हो रही। लगातार कोरोना के बढ़ते मामलों से सरकारी अस्पतालों हालत हर दिन बदतर होते जा रहे है। मुंबई में हाल इतने गंभीर हैं कि, मरीजों के लिए पर्याप्त बेड उपलब्ध नहीं हैं। अस्पतालों में भर्ती होने के लिए मरीज़ो की वेटिंग लिस्ट बनाई जा रही है।

महाराष्ट्र समेत दिल्ली सरकार को सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार
सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना मरीज़ो के इलाज में लापरवाही और शवों के साथ अमानवीय व्यवहार के लिए सुनवाई हुई । सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र, दिल्ली, तमिलनाडू, पश्चिम बंगाल की सरकारों को नोटिस जारी किया। इन राज्यों के सरकारी अस्पतालों की स्थिति और प्रबंधन को लेकर सवाल उठाये गए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि, बढ़ते मरीज़ो की वहज से इन राज्यो की स्थिति ‘भयानक’ है।

READ:  वामपंथियो के गढ़ बंगाल में भाजपा ने कैसे तैयार की अपनी राजनीतिक ज़मीन?

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मोदी के मंत्रालयों पर ‘कोरोना संकट’, श्रम मंत्रालय में 24 अधिकारी-कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव

अस्पतालों की हालत गंभीर
हालात हर दिन बदतर होते जा रहे हैं, यहां मरीजों के इलाज के लिए सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में जगह नहीं है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यहां कोरोना अस्पतालों में मरीजों के लिए 9284 बेड हैं। वहीं, सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में 1094 आईसीयू बेड और 464 वेंटिलेटर हैं। अस्पतालों में भर्ती होने के लिए लंबी कतारें लग रही है। यहां तक मरीज़ो को कहा जा है कि, वे नाम, नंबर , पता दें ताकि बेड खाली होने पर संपर्क किया जा सके। स्थिति इतनी गंभीर है कि मरीज़ो का इलाज शवों के साथ किया जा रहा है।

READ:  नोटबंदी की तरह ही 'असफल' रहा मोदी सरकार का लॉकडाउन ?

महाराष्ट्र अब तक 3717 लोगों हो चुकी है मौत
अकेले मुंबई में 55,441 हजार कोरोना संक्रमितों कि संख्या है। प्रदेश में 1 लाख 11 हजार 41 (101141), इनमें से 49 हजार 628 एक्टिव मामलें है। पूरे प्रदेश में 3717 और अकेले मुंबई में अब तक कोरोना से 2044 लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना का कहर इतना बढ़ रहा है कि मुंबई ने चीन के वुहान शहर को पीछे छोड़ दिया है।

Shubham Satpaise, he is a post graduation diploma student of Indian Institute Of Mass Communication (Marathi Journalism) regional center, Amravati.

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें [email protected] पर मेल कर सकते हैं।