Home » Madhya Pradesh: 30 हजार स्कूलों में 12 जुलाई से हड़ताल, नहीं होगी ऑनलाइन पढ़ाई और परीक्षा

Madhya Pradesh: 30 हजार स्कूलों में 12 जुलाई से हड़ताल, नहीं होगी ऑनलाइन पढ़ाई और परीक्षा

Madhya Pradesh
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Madhya Pradesh: यह मामला मध्यप्रदेश(Madhya Pradesh) का है। मध्यप्रदेश( Madhya Pradesh) में ट्यूशन फीस लगातार वसूली जा रही है और स्कूल खोलने की इजाजत नहीं मिल रही है। मध्य प्रदेश( Madhya Pradesh) सरकार के इस निर्णय के विरोध में प्राइवेट स्कूल संचालक 12 जुलाई से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा रहे थे, लेकिन इससे पहले ही स्कूलों में फूट पड़ गई है। भोपाल के बड़े स्कूलों ने हड़ताल के समर्थन पर चुप्पी साधी हुई है। इंदौर के CBSE स्कूलों ने हड़ताल और पढ़ाई बंद करने से इंकार कर दिया है।

मध्यप्रदेश के 30 हजार स्कूल हड़ताल में होंगे शामिल

दरअसल छिंदवाड़ा और गुना सहित कई शहरों में भी स्कूलों ने केवल ट्यूशन फीस में ही पढ़ाई कराने पर सहमति दे दी है। इससे पेरेंट्स को राहत मिली है। इधर, प्राइवेट स्कूलों की संस्था एसोसिएशन ऑफ अन एडेड प्राइवेट स्कूल्स मध्य प्रदेश ने हड़ताल का आह्वान किया है। दावा है कि मिशनरी समेत करीब 30 हजार प्राइवेट स्कूल हड़ताल में शामिल होंगे। इससे ऑनलाइन पढ़ाई नहीं हो सकेंगी। स्कूल खोले जाएंगे।

क्यों नहीं होगी ऑनलाइन पढ़ाई

8 जुलाई को जारी हुए आदेश के कारण प्राइवेट स्कूलों में ऑनलाइन पढ़ाई नहीं होगी। इसे लेकर बैठकों का दौर चल रहा है, हालांकि स्कूल बंद है इस बात से हड़ताल हो रही है। प्रदेश के कुछ जिलों में एसोसिएशन हड़ताल में शामिल नहीं होने की बात कह चुके हैं। लेकिन, एसोसिएशन ऑफ अन एडेड प्राइवेट स्कूल्स ने शुक्रवार शाम एक बैठक की जिसमें हड़ताल का फैसला बरकरार रखा गया। बता दें कि सरकार के खिलाफ अदालत में जाने के फैसले को रविवार तक के लिए टाल दिया है। रविवार को दोबारा बैठक कर इस पर निर्णय लिया जाएगा।

PM मोदी ने इन 12 केंद्रीय मंत्रियों के क्यों ‘बजा दिए बारह’?

सीएम शिवराज सिंह ने लगाई अतिरिक्त राशि पर रोक

READ:  Varanasi: बर्थडे मनाने के लिए घर से पैसे न मिलने पर नदी में कूदा युवक लापता

मध्यप्रदेश(Madhya Pradesh) के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने 6 जुलाई को तीसरी लहर की आशंका खत्म होने तक स्कूल बंद रखने को कहा था। उन्होंने ट्यूशन फीस के अलावा अतिरिक्त राशि नहीं लेने का भी ऐलान किया था। लेकिन प्राइवेट स्कूल के संचालक इस घोषणा का विरोध कर रहे थे तभी 8 जुलाई को स्कूल शिक्षा विभाग ने आदेश भी जारी कर दिए हैं की अब ऑनलाइन पढ़ाई नहीं होगी।

क्या कहा एसोसिएशन के गोपाल सोनी ने

एमपी बोर्ड प्राइवेट एसोसिएशन इंदौर के गोपाल सोनी ने बताया कि हम सरकार के इस फैसले के विरोध में एक दिन की हड़ताल कर रहे हैं। 12 जुलाई को स्कूल बंद रहेंगे। इसके बाद आगे की रणनीति पर काम होगा। वहीं, CBSE स्कूल इसमें भाग नहीं ले रहे हैं।

होशंगाबाद के ऑनलाइन पढ़ाई में नहीं शामिल होंगे स्कूल

बता दें कि होशंगाबाद में 12 जुलाई को सभी प्राइवेट स्कूलों में ऑनलाइन पढ़ाई नहीं होगी। सोसायटी फॉर स्कूल डायरेक्टर्स के जिला अध्यक्ष राजेश दुबे ने कहा कि मांगों को लेकर जिलेभर में निजी स्कूल बंद रखेंगे।

इन एसोसिएशन ने लिया हड़ताल में भाग

एसोसिएशन ऑफ अन एडेड प्राइवेट स्कूल्स मध्य प्रदेश के वाइस प्रेसिडेंट विनय राज मोदी ने बताया कि एसोसिएशन से सोसायटी फॉर प्राइवेट स्कूल्स डायरेक्टर्स मध्य प्रदेश, अशासकीय शिक्षण संस्था संगठन बैरागढ़ भोपाल, जबलपुर अन एडेड स्कूल्स एसोसिएशन, इनपेनडेंट स्कूल्स अलाइंस इंदौर, ग्वालियर प्राइवेट स्कूल्स एसोसिएशन समिति, सहोदय ग्रुप ऑफ सीबीएसई स्कूल्स भोपाल, ग्वालियर सहोदय कॉम्पलेक्स आदि जुड़े हैं। इसके अलावा मिशनरी स्कूल भी हड़ताल के समर्थन में है, इसलिए प्रदेशभर के प्राइवेट स्कूलों में 12 से ऑनलाइन पढ़ाई नहीं होगी। एग्जाम बाद में लिए जाएंगे।

Himachal Pradesh Ex CM Virbhadra Singh passes away: हिमाचल के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह का निधन, जानिए 6 बार मुख्यमंत्री पद मिलने की कहानी!

हड़ताल के कारण नहीं होंगे एग्जाम

READ:  IND vs ENG W T20: हरलीन देओल ने बाउंड्री लाइन पर 'सुपरवुमेन' बन पकड़ा हैरतअंगेज कैच, हर कोई रह गया हैरान

कई स्कूलों की 10 जुलाई के बाद फर्स्ट टर्म यानी त्रैमासिक एग्जाम शुरू हो रही है, लेकिन हड़ताल के कारण एग्जाम नहीं हो सकेंगे। इस कारण अभिभावक परेशान हैं। भोपाल के कोलार की नीलम सिंह ने बताया कि उनका बेटा लक्ष्य कक्षा 5वीं में है। उसकी ऑनलाइन पढ़ाई चल रही है और 12 जुलाई से फर्स्ट टर्म की एग्जाम होने वाली है। हड़ताल के कारण समझ नहीं पा रहे हैं कि एग्जाम होगी या नहीं।

एसोसिएशन ने कहा बिजली बिल, टैक्स किस्ते माफ करे सरकार

मध्यप्रदेश प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने सरकार से कोरोना काल में नुकसान के चलते आर्थिक मदद की मांग की है। एसोसिएशन ने कहा कि सरकार स्कूल संचालकों को आर्थिक मदद देने के साथ ही सभी प्रकार के टैक्स, बिजली, बिल, बैंक की किस्तों आदि को भी माफ करवाए। ऐसा नहीं होने पर एसोसिएशन ने भी 12 जुलाई से अनिश्चित काल के लिए ऑफलाइन/ऑनलाइन अध्यापन कार्य पूर्ण रूप से बंद करने और जिला कलेक्टर/एसडीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपने की बात की है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।