Home » गुना: खड़ी फसल पर चली ‘प्रशासनिक जेसीबी’, दलित पति-पत्नी ने खाया जहर

गुना: खड़ी फसल पर चली ‘प्रशासनिक जेसीबी’, दलित पति-पत्नी ने खाया जहर

Casteism in India Madhya Pradesh Guna Dalit family farmer "No Option But To Kill Self": Land Seized, Farmer Couple Drinks Pesticide
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्य प्रदेश के गुना जिले के कैंट थाना क्षेत्र के जगनपुर चौक में मेहनत से खड़ी की फसल पर आंखों के सामने जेसीबी चलता देख दलित पति-पत्नी ने जहर खाकर खुदकुशी करने की कोशिश की। दोनों को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनका इलाज जारी है. बता दे, जिस जमीन से अतिक्रमण हटाया जाना था वो मॉडल कॉलेज के लिए चयनित है। इस जमीन पर एक दलित परिवार किसानी करता है। प्रशासन से परिवार ने हाथ जोड़कर गुहार लगाई कि फसल कट जाने तक कार्रवाई न करें लेकिन जब प्रशासनिक टीम नहीं मानी तो दलित पति-पत्नी ने घर की झोपड़ी में ही रखी कीटनाशक पी लिया।

अतिक्रमण की हुई जमीन को राजू और उसकी पत्नी सावित्री ने बटाई पर लिया है और खेत में झोपड़ी बनाकर अपने 6 बच्चों के साथ रहते हैं। प्रशासन की टीम जैसे ही कार्रवाई करने के लिए पहुंची तो पहले तो राजू और पत्नी सावित्री ने अधिकारियों के हाथ-पैर जोड़े लेकिन जब अधिकारी नहीं माने और खड़ी फसल पर जेसीबी चलवाने लगे तो दोनों भागकर झोपड़ी में पहुंचे और वहां रखी कीटनाशक पी ली। कीटनाशक पीने के कारण पत्नी सावित्री मौके पर ही बेसुध होकर गिर गई। वहीं मां की हालत देख मासूम बच्चे मां से लिपट कर रोने लगे. कुछ ही देर बाद पति राजू ने भी कीटनाशक पी लिया.

ALSO READ: मध्य प्रदेश में किस मंत्री को मिला कौन सा विभाग, एक क्लिक में देखें पूरी लिस्ट

घटना की सूचना लगते ही अधिकारी भी मौके पर पहुंचे जहां पर बच्चों को रोता देख मौजूद अधिकारियों के भी हाथ-पैर फूल गए। अधिकारियों ने तुरंत एंबुलेंस को सूचना दी और फिर बेहोशी की हालत में ही बेहोश पति-पत्नी को अस्पताल ले जाया गमें भर्ती कराया गया है जहां उनका इलाज किया जा रहा है।

READ:  Rakesh Tikait's appeal to Biden, raising farmers' issue in with PM Modi

मासूस को ज़हर पिलाना चाहा
माता-पिता के जहर पीकर बेसुध होने के बाद एक मासूम बच्ची मां की छाती पर बैठ गई और जोर जोर से रो उठी। पास ही बेसुध पड़े पिता राजू से भी मासूम बच्चे लिपट गए और रोते-रोते पिता को होश में लाने की कोशीश करने लगे। जिसके बाद युवक ने अपने बच्चों को भी जहर पीलाने की कोशिश की लेकिन वह बच्चों को जहर पिला पाता इससे पहले ही मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे रोक दिया। पुलिस राजू को पकड़ने का प्रयास कर रही थी इसी दौरान उसने दौड़ लगा दी और खुद भी कीटनाशक पी लिया। जिससे वो भी बेहोश हो गया। ये सब देख अधिकारियों और पुलिसकर्मियों के होश उड़ गए।

भाभी को बेहोश देख देवर का हुआ बुरा हाल
राजू की पत्नी सावित्री के कीटनाशक पीने के बाद बेहोश होने और बच्चों को बिलखते देख राजू का छोटा भाई अपना आपा खो बैठा। बेहोश भाभी को अस्पताल ले जाता देख पुलिसकर्मियों को राजू के छोटे भाई ने धक्का दे दिया। जिससे पुलिसकर्मी भड़क गए और उसपर जमकर लाठियां चला दी. छोटे भाई को बचाने आयी एक महिला को भी पुलिस ने नहीं बख्शा और जमकर लाठियां चलाईं। वहीं पुलिस की लाठियां खाने से राजू का छोटा भाई भी मौके पर ही बेहोश हो गया।

दलित परिवार की दास्तां
बता दे राजू ने अतिक्रमण हटाने पहुंचे अधिकारियों से गुहार लगाते हुए ये तक कहा कि वह गरीब आदमी है, मुझ पर तीन लाख रुपए का कर्जा है, 6 छोटे-छोटे बच्चे हैं, कर्ज को चुकाने के लिए वह बटाई पर जमीन लेकर खेती कर रहा है। उसने कहा कि उसे खेती कर लेने दीजिए, नहीं तो मेरे परिवार को जहर दे दीजिए।

READ:  Women's entry in NDA will be completed by May 2022: Govt

जमीन पर बनना है कॉलेज
दरअसल जिस जमीन को लेकर ये सारा हंगामा हुआ वो जमीन मॉडल कॉलेज के लिए चयनित है। जिस पर जल्द काम शुरू होना है। मॉडल कॉलेज का निर्माण करने वाली एजेन्सी का कहना है कि प्रशासन उनको जमीन खाली करके दे। जिसके चलते एसडीएम शिवानी रायकवार के निर्देश पर नायब तहसीलदार निर्मल राठौर के नेतृत्व में पटवारियों, आरआई अमले के साथ जमीन को खाली कराने पहुंचे थे ।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।