इन 10 बिंदुओं में जानिए आखिर कौन हैं AAP के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार आलोक अग्रवाल

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भोपाल, 17 जुलाई। आम आदमी पार्टी के प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 के लिए ‘आप’ के मुख्यमंत्री की घोषणा कर दी है। केजरीवाल ने इंदौर में एक रैली के दौरान आलोक अग्रवाल के नाम की घोषणा करते हुए कहा है कि, मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री पद उम्मीदवार आलोक अग्रवाल होंगे। जैसे ही आलोक अग्रवाल का नाम सामने आया सब उनके बारे में जानना चाहते हैं कि आम आदमी पार्टी की ओर से बनाए गए मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार आखिर कौन हैं?

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश: सिंधिया राजघराने-अंग्रेज कनेक्शन पर क्यों ‘हिट विकेट’ हो गये शिवराज?

इन दस बिंदुओं में जानिए कौन है आलोक अग्रवाल 

  1. आलोक अग्रवाल मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित अयोध्या पायपास के रहने वाले हैं।
  2. दरअसल, आलोक अग्रवाल एक सामाजिक कार्यकर्ता है।
  3. उन्होंने आईआईटी से पढ़ाई की है।
  4. रिपोर्ट्स की माने तो उनके पास अमेरिका में अच्छे ओहदे पर नौकरी करने का मौका था लेकिन उन्होंने जन सेवा को अपना करियर चुना।
  5. अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद आलोक राज्य के लोगों की सेवा को चुना।
  6. अग्रवाल ने 2014 लोकसभा चुनाव में मध्य प्रदेश के खंडवा से चुनाव लड़ा था।
  7. आलोक अग्रवाल मध्य प्रदेश में आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक हैं।
  8. नर्मदा बचाओ आंदोलन के दौरान आलोक एक बड़े नेता के रूप में उभरकर सामने आए थे।
  9. उन्होंने आईआईटी कानपुर से केमिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है।
  10. सामाजिक हितों के लिए कई बार भूख हड़ताल कर चुके आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी हैं।

यह भी पढ़ें: देश में एक साथ चुनाव चाहते हैं PM मोदी… जानिए आखिर कितना संभव है ये

आम आदमी पार्टी की ओर से मध्य प्रदेश  चुनाव के लि जारी किए गए घोषणा पत्र को बाकयदा 100 रुपये के स्टांप पेपर पर जारी किया गया है। 30 सूत्रीय वादों में सूबे के किसानों का संपूर्ण कर्ज माफ किए जाने, कृषि क्षेत्र के लिए फ्री बिजली, युवा रोजगार सुरक्षा कानून का निर्माण और बेरोजगारों को 1500 रुपये से 3000 रुपये प्रति माह का जीवन निर्वाह भत्ता देने की भी घोषणा की गई है।

यह  भी पढ़ें: बीते 15 सालों में बच्चों के साथ रेप के 1 लाख 53 हजार मामले दर्ज, मॉब लिंचिंग में 3000 मौत

इससे पहले रैली के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि  ‘मैं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सामने खुला प्रस्ताव रखता हूं कि हम उन्हें सिखा सकते हैं कि सरकारी स्कूलों की हालत कैसे सुधारी जाती है। इस काम के लिए मैं दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया को कुछ समय के लिए मध्यप्रदेश भेजने को भी तैयार हूं।’

आम आदमी पार्टी की ओर से स्टांप पेपर पर जारी किया घोषणा पत्र को पढ़ने के लिए क्लिक करें-

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019 के लिए I-PAC की रणनीति तैयार, PM मोदी को मिलेगा प्रशांत किशोर का साथ!