अंडे से खत्म होगा कोरोना, सरकार ने जारी की गाइडलाइन

Corona Virus India
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

देश के ह्रदय प्रदेश की शिवराज सरकार का मानना हैं कि अण्डे खिलाने से कोरोना के रोगी जल्दी ठीक हो सकते हैं। प्रदेश के सभी जिला कलेक्टरों को राज्य मुख्यालय से खान-पान की गाइडलाइंस जारी करते हुए अण्डे का विशेष महत्व बताया गया है। स्वास्थ्य आयुक्त डा. संजय गोयल ने सभी जिला कलेक्टरों को निर्देश भेजकर कहा है कि हल्के/मध्यम/लक्षण रहित कोरोना रोगियों को अण्डे खिलाये जायें।

Suyash Bhatt | Bhopal

स्वास्थ्य आयुक्त ने अपने निर्देशों में कहा है कि कोविड-19 रोगियों में बुखार, खांसी, गले में खराश, सांस लेने में कठिनाई, स्वाद एवं सूंघने की शक्ति में परिवर्तन जैसे लक्षण प्राय: पाये जाते हैं। अमेरिकन सोसायटी फार पेटर्नल एण्ड एटर्नल न्यूट्रिशियन द्वारा पोषक तत्वों की भूमिका एवं आवश्यक्ता आंकी गई है।

इसलिये अब कोविड-19 के रोगियों को सुबह 7 से 7.30 बजे के बीच एक कप चाय प्लस बीस ग्राम मंगफली/भुना हुआ चना/चार बिस्कुट दिये जायें। सुबह 8 बजे से 9 बजे के बीच एक कप दूध,/अण्डा प्लस पोहा/उपमा/दलिया/पराठे प्लस एक केला या फल दिया जाये।

ALSO READ: सिंधिया से हार का बदला लेना चाहते हैं विजयवर्गीय, आगामी उपचुनाव में शिवराज को होगा भारी नुकसान’

दोपहर साढ़े बारह बजे से डेढ़ बजे के बीच भोजन में रोटी/चावल प्लस तुअर दाल/छोले/राजमा/साबूत दाल प्लस दही/रायता/पनीर प्लस हरी सब्जी दी जाये। शाम 4 बजे से 5 बजे के बीच चाय प्लास बिस्कुट/अंकुरित मूंग दी जाये। रात 7 से 8 बजे के बीच भोजन में रोटी/चावल प्लस सब्जी प्लास बिना छिलके वाली दाल प्लस कस्टर्ड/खीर/सेवाईयां/पनीर दिया जाये।

ALSO READ: सरकार ने टिकटॉक समेत इन 59 चीनी एप्स पर लगाया बैन

ALSO READ:  मध्यप्रदेश में किसान परेशान, फ़सल कटवाना भी पड़ रहा महंगा

स्वास्थ्य आयुक्त ने अपने निर्देश में यह भी कहा है कि रोटी बनाने के लिये तीन किलो गूंहू के आटे में एक किलो बेसन मिलाया जाये तथा यथासंभव दूध से आटा गूंथा जाये। मधुमेह के रोगियों को शक्कर नहीं दी जाये तथा डायलिसिस तथा कैंसर कीमोथैरेपी के रोगियों को सलाद या फल न दिये जायें। उक्त सभी डाईट के लिये सौ रुपये प्रति रोगी के मान से राशि की स्वीकृति भी दी गई है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.