Madhya Pradesh By Elections Sanchi seat results 2020: BJP Prabhuram Choudhary won on Congress Madanlal Choudhary Madhya Pradesh By Elections Sanchi seat results 2020: BJP Prabhuram Choudhary won on Congress Madanlal ChoudharyMadhya Pradesh By Elections 2020: Sanchi Assembly Congress Madanlal Choudhary BJP Prabhuram Choudhary

Sanchi seat results: सांची सीट पर दो चौधरियों के बीच हुई कांटे की टक्कट, देखें कौन जीत

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

(Sanchi seat result 2020 || Madhya Pradesh by-election 2020 || BJP Candidate Dr. Prabhuram Chaudhary vs Congress Candidate Madanlal Chaudharty) मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर हुए उपचुनाव के रुझानों के बाद अब नतीजे आने शुरू हो गए हैं। मध्य प्रदेश की सांची सीट पर बीजेपी के प्रभुराम चौधरी और कांग्रेस के मदनलाल चौधरी के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिली है। (Sanchi seat result 2020 || Madhya Pradesh by-election 2020 || BJP Candidate Dr. Prabhuram Chaudhary vs Congress Candidate Madanlal Chaudharty).

सिंधिया खेमें के 22 बागी विधायकों में से एक प्रभुराम चौधरी साची से बीजेपी के उम्मीदवार थे उन्होंने सांची सीट से भारी बहुमत से जीत दर्ज करते हुए कांग्रेस उम्मीदवार मदनलाल चौधरी को हराया है। साल 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में प्रभुराम चौधरी ने कांग्रेस के टिकट से चुनाव लड़ा था लेकिन मार्च 2020 में हुए तख्ता पलट के बाद वे सिंधिया के साथ बीजेपी में शामिल हो गए थे।

READ:  Everything about "Unlock 1.0", answers to all your questions...

Mandhata Seat Results: मध्य प्रदेश की इस सीट से जीत गया है ये उम्मीदवार, बजने लगे ढोल-नगाड़ें

डॉ. प्रभुराम चौधरी (Dr. Prabhuram Choudhary) 2018 में बीजेपी के उम्मीदवार मुदित शेजवार (Mudit Shejwar) के खिलाफ चुनाव लड़ा था और बीजेपी के शेजवार को 7% वोटो से हराया था। वहीं इस बार वो खुद ही बीजेपी की टिकट से कांग्रेस के मदनलाल चौधरी (Congress Madanlal Choudhary) के खिलाफ मैदान में थे। उनकी जीत और किस्मत का फ़ैसला साँची की जनता ने किया है। कांग्रेस और मदनलाल चौधरी और बीजेपी के प्रभुराम चौधरी के बीच हुए इस दिलचस्प मुकाबले में प्रभुराम चौधरी ने मदनलाल चौधरी को 46 हजार वोटों से हराया है।

READ:  राहुल गांधी फिर से थामें कांग्रेस की कमान: सचिन पायलट

बता दें कि सिंधिया के साथ 22 विधायक कांग्रेस से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हुए थे। इनमें 19 सिंधिया गुट के थे। एंदल सिंह कंसाना और बिसाहूलाल सिंह दिग्विजय सिंह समर्थक जबकि हरदीप सिंह दंग अरुण यादव समर्थक थे। जौरा में बनवारीलाल शर्मा के निधन से सीट खाली हुई थी, यह सीट भी सिंधिया के प्रभाव की है। अब यहां से सूबेदार सिंह चुनाव लड़ रहे हैं जो आगे चल रहे हैं। ग्वालियर-चंबल की 16 सीटों पर भी 7 सिंधिया समर्थक प्रत्याशी पीछे चल रहे हैं। ये सीटें हैं- मुरैना, दिमनी, अंबाह, जौरा, करैरा, मेहगांव और भांडेर। इनमें दो मंत्री भी शामिल हैं। यह हैं- ओपीएस भदौरिया, गिर्राज सिंह।

READ:  63/70: In Delhi, development trumps hate

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at [email protected] to send us your suggestions and writeups.