मध्य प्रदेश उपचुनाव: कांग्रेस के बागी विधायकों ने बढ़ाई बीजेपी की चिंता!

MP 3rd wave corona lockdown guidelines
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report News Desk | New Delhi

मध्य प्रदेश में आगामी कुछ महीनों में कुल 24 सीटों पर उप चुनाव होना है। चुनाव के मद्देनजर राजनीतिक गतिविधियां भी तेज हो गई है। पार्टियों में संगठन स्तर पर फेरबदल का सिलसिला शुरू हो चुका है इस बीच कांग्रेस के बागी विधायकों के भाजपा में शामिल होने से पार्टी में हलचल तेज हो गई है।

कांग्रेस से बगावत कर बीजेपी का दामन थामने के बाद अब चुनाव के नए सियासी समीकरण बनते नजर आ रहे हैं। बीजेपी के कई नेताओं की चिंता सिर्फ इसलिए बढ़ गई है कि कांग्रेस के 22 बागी विधायकों की एंट्री के बाद पिछले चुनाव में बीजेपी से किस्मत आजमाने वाले नेताओं को अपने राजनीतिक भविष्य की चिंता सता रही है।

READ:  राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया फिर हुए भाजपा से नाराज़, नहीं करेंगे दमोह में चुनावी रैली

एक ओर जहां कांग्रेस ने बीजेपी के पुराने नेताओं पर डोरे डालने शुरू कर दिए हैं तो वहीं दूसरी ओर बीजेपी ने कांग्रेस के बागी विधायकों उन्हें अपने संगठन में तवज्जो देनी शुरू कर दी है। कांग्रेस के 22 बागी विधायकों के बीजेपी में शामिल होने और शिवराज सरकार बनने के बाद सभी का चुनाव लड़ना कन्फर्म है।

आज तक की खबर के मुताबिक, ग्वालियर-चंबल संभाग में ज्योतिरादित्य सिंधिया के विरोधी रहे बीजेपी नेता अब खामोशी अख्तियार किए हुए हैं। जयभान सिंह पवैया से लेकर बृजमोहन सिंह किरार, मुदित शेजवार और राजेश सोनकर सहित तमाम नेता बीजेपी से 2018 में चुनावी किस्मत आजमाने वाले अपने भविष्य को लेकर पशोपेश में जरूर हैं। उन्होंने डेढ़ साल पहले जिस उम्मीदवार को मात देने के लिए पूरी ताकत झोंक दी थी, अब उसके लिए वोट मांगते नजर आएंगे।