Home » सिंधिया समर्थक मंत्री का बड़ा बयान, ‘कमलनाथ के 15 महीने का लेखा-जोखा खोल दिया तो जेल में होंगे’

सिंधिया समर्थक मंत्री का बड़ा बयान, ‘कमलनाथ के 15 महीने का लेखा-जोखा खोल दिया तो जेल में होंगे’

Madhya Pradesh By Elections 2020: If KamalNath becomes CM, the government will pay the examination fee of the youth, read the promise letter of MP Congress कमलनाथ CM बनें तो युवाओं का परीक्षा शुल्क देगी सरकार, ये है कांग्रेस का वचन पत्र राहुल गांधी की फोटो के साथ कांग्रेस का 'वचन पत्र', कमलनाथ बोले- अब शिवराज को जनता मारेगी तमाचा
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्य प्रदेश उपचुनाव से पहले मध्य प्रदेश की सियासत में आरोप प्रत्यारोप का दौर तेज हो गया है। इस बीच शिवराज सरकार में मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने पूर्व मुख्‍यमंत्री कमलनाथ को लेकर बड़ा बयान दिया है। मंत्री तोमर का कहना है कि कमलनाथ के 15 महीने का लेखा जोखा खोल दिया गया तो वो जेल में होंगे। यह भी पढ़ें: भरी सभा में शिवराज ने पूछा, कमलनाथ अच्छे मुख्यमंत्री या शिवराज, जवाब मिला- कमलनाथ

बुधवार को मीडिया से चर्चा में मंत्री प्रदुम्न सिंह तोमर ने पूर्व सीएम कमलनाथ पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया का चेहरा दिखा कर कांग्रेसa ने सरकार बनाई थी, जिस तरह लड़की की शादी होती है, तो कहते हैं न अच्छा सा लड़का दिखाओ और जब वरमाला का वक्त आया तो 70 साल का…, ऊपर केंद्रीय नेतृत्व में फंडिंग करके मुख्यमंत्री बन गया, ऐसा धोखा कही होता है, ऐसे धोखा देने वाले के हवाले मध्य प्रदेश की जनता छोड़ दिया।

कांग्रेस द्वारा शेयर किए गए इस वीडियो के अलावा बीजेपी ने एक वीडियो शेयर किया –

READ:  Panchayat members are first target of militants: Farooq Abdullah

…तो जेल में होंगे कमलनाथ
मंत्री ने दावा करते हुए कहा कि जो आज कल मध्य प्रदेश कांग्रेस के सीईओ हैं, उनका 15 महीने का लेखा जोखा अगर सही तरीके से खोल दिया गया तो वो बाहर नहीं होंगे, जेल में होंगे। वहीं उन्होंने कर्जमाफी को लेकर कहा कि जो फर्जी सीडी कमलनाथ लेकर घूम रहे हैं, मैं चैलेंज देकर कहता हु, ग्वालियर चम्बल की माटी पर खड़े होकर किसानों से कहलवाऊंगा कि दो लाख तक कर्जा आज तक माफ़ नहीं हुआ, जो दस दिन में होना था। झूठ का सहारा लेने वाले कमल नाथ जी, दुर्भाग्य है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया का चेहरा आगे रखकर कांग्रेस ने सरकार बनाई थी, मप्र की जनता के साथ धोखा किया।

Madhya Pradesh By-elections : क्या ख़रीद-फरोख़्त की राजनीति करके उपचुनाव जीत पाएगी बीजेपी ?

वहीं दूसरी ओर चुनावी सरगर्मियों के बीच मध्य प्रदेश उपचुनाव (Madhya Pradesh By-elections) को लेकर चुनाव आयोग ने कहा है कि सभी 28 सीटों पर 29 नवंबर से पहले वोटिंग करा ली जाएगी। इलेक्शन कमीशन ने शुक्रवार को बड़ी घोषणा करते हुए कहा है कि, बिहार विधानसभा चुनाव के साथ ही उपचुनाव भी करवाए जाएंगे। चुनाव आयोग ने कहा कि, देश भर में 64 ऐसी विधानसभा सीट है जहां उपचुनाव होने हैं इसमें मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटें भी शामिल हैं।

READ:  100% FDI in Telecom sector, Once BJP was against it

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।