Home » मध्य प्रदेश उपचुनाव : सिंधिया के गढ़ में प्रियंका गांधी का रोड शो, बीजेपी में हड़कंप

मध्य प्रदेश उपचुनाव : सिंधिया के गढ़ में प्रियंका गांधी का रोड शो, बीजेपी में हड़कंप

madhya-pradesh-by-elections-2020 : Priyanka's roadshow in Sindhia's stronghold
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्य प्रदेश में आगामी उपचुनाव के ज़रिए सत्ता में वापसी का रास्ता तलाश रही कांग्रेस चुनाव जीतने के लिए कोई भी कसर नहीं छोड़ना चाहती है। इस उपचुनाव में कांग्रेस का सत्ता में वापसी का गणित भले ही मुश्किल नज़र आ रहा हो, मगर कांग्रेस पार्टी चुनाव जीतने के लिए सारे दांव-पेंच आज़माती दिख रही है।

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को उपचुनाव में बुलाया है। प्रियंका यहां दतिया स्थित मां पीतांबरा देवी के दर्शन के बहाने आ रही हैं। अब कांग्रेस की इस इस नैया को इस उपचुनाव में पार लगाने के प्रियंका भी अपना दम दिखाने जा रही हैं।

कमलनाथ को बड़ा झटका, कांग्रेस का ये विधायक जल्द होगा बीजेपी में शामिल!

दर्शन का सहारा लेकर प्रियंका गांधी उपचुनाव की छह सीटों से गुजरते हुए रोड शो भी करेंगी। उनका कार्यक्रम राजस्थान से सड़क मार्ग से प्रवेश कर मुरैना, ग्वालियर और डबरा होते हुए दतिया तक पहुंचने का बनाया जा रहा है।

दरअसल, सिंधिया से हिसाब चुकता करने के लिए ही कांग्रेस उनके गढ़ में प्रियंका गांधी वाड्रा का रोड शो कराने की तैयारी में है। कमल नाथ सरकार गिराने के लिए कांग्रेस ज्योतिरादित्य सिंधिया को दोषी ठहराती रही है, इसलिए वह कांग्रेस और गांधी परिवार के निशाने पर हैं।

क्या ख़रीद-फरोख़्त की राजनीति करके उपचुनाव जीत पाएगी बीजेपी ?

यहां पार्टी कार्यकर्ताओं की कमी के साथ ही भरोसे के संकट से भी जूझ रही है। क्योंकि अभी मुश्किल यह है कि ये सिंधिया के प्रभाव वाला क्षेत्र है। कांग्रेस को उम्मीद है कि प्रियंका के आने से इन क्षेत्रों में कार्यकर्ता सक्रिय होंगे और पार्टी को फायदा पहुंचेगा।

कांग्रेस का तर्क है कि मां पीतांबरा के दर्शन के लिए गांधी परिवार पीढ़ियों से हाजिरी लगाता आया है। पूर्व प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी यहां आकर दर्शन कर चुके हैं। 2018 में राहुल गांधी ने यहां दर्शन पूजन कर चुनावी अभियान शुरू किया था।

अपनी साख बचाने के लिए फूंक-फूंक कर क़दम रख रहे कमलनाथ

2018 में राहुल गांधी की मंदसौर रैली ने मप्र विस चुनाव-2018 की तस्वीर ही बदल दी थी। उपचुनाव में प्रियंका भी संदेश देना चाहेंगी कि कांग्रेस में युवा नेताओं को भरपूर मौका दिया जा रहा है। कांग्रेस प्रियंका का रोड शो कर एक तीर से कई निशाने लगाना चाहती है।

इस कांग्रेस विधायक के निधन के बाद मध्य प्रदेश में अब 27 नहीं 28 सीटों पर होगा उपचुनाव

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।