शिवराज बोले – कमलनाथ के दाग़ बड़े गहरे हैं, दुनियाभर के वॉशिंग पाउडर से भी नहीं धुलेंगे

कमलनाथ को बड़ा झटका, भाजपा को 2 निर्दलीय विधायकों के समर्थन से बदले चुनावी समीकरण

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

एक ओर जहां बीजेपी-कांग्रेस मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में राजनीतिक सभाए कर रही हैं वहीं दूसरी ओर खबर है कि दो निर्दलीय विधायकों ने शिवराज सरकार को चिट्ठी लिखकर अपना समर्थन दिया है। इन दोनों निर्दलीय विधायकों के समर्थन के बाद अब उपचुनाव में भाजपा को सिर्फ 2 सीटों की ही जरूरत है। निर्दलीय विधायक सुरेंद्रसिंह शेरा और केदार डावर ने चिट्ठी लिखकर सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया को अपना समर्थन देने की घोषणा की है। इन दोनों पत्र को विधानसभा सचिवालय भेज दिया गया है ।

ALSO READ:  इंदौर में फिर कोरोना विस्फोट, एक ही शोरुम के 31 कर्मी निकले Covid-19 पॉज़िटिव

दोनों निर्दलीय विधायको के समर्थन के बाद प्रदेश में चुनावी राजनीतिक समिकरण अचानक से बदल गए हैं। पहले 28 सीटों में से जहां भाजपा को 9 विधायकों की जरूरत थी वहीं अब सिर्फ 2 सीटों की जरूरत है। इस समर्थन के बाद बीजेपी को कुल 114 विधायकों का समर्थन मिल गया है। भाजपा के पास वर्तमान में 107 विधायक हैं। इसके अलावा बसपा के 2 और सपा के 1 विधायक शिवराज सरकार को पहले ही हासिल है। इससे पहले 2 निर्दलीय विधायक शिवराज को अपना समर्थन दे चुके हैं वहीं अब 2 अन्य निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा और केदार डावर ने चिट्ठी लिखकर शिवराज सरकार को अपना समर्थन दे दिया है।

ALSO READ:  राहुल गांधी की फोटो के साथ कांग्रेस का 'वचन पत्र', कमलनाथ बोले- अब शिवराज को जनता मारेगी तमाचा

Madhya Pradesh By-Elections 2020: कैसा है ग्वालियर सीट का राजनीतिक समीकरण, समझें एक क्लिक में

230 सीटों वाली विधानसभा में बहुमत के लिए 116 सीटों की जरूरत है। वर्तमान स्थिति को देखें तो बीजेपी का पलड़ा 112 सीटों के साथ भारी नजर आता है वहीं कांग्रेस के पास अभी सिर्फ 88 सीटे हैं। अचानक बदले समीकरण के बाद जहां शिवराज सरकार को बहुमत साबित करने के लिए इस चुनाव में सिर्फ 4 सीटों की जरूरत है। वहीं कमलनाथ के लिए ये फासला अब काफी बढ़ गया हैै। कमलनाथ को सभी सीटों पर जीत दर्ज करने की जरूरत है।

बता दें कि चुनाव आयोग ने घोषणा करते हुए कहा है कि मध्य प्रदेश में सभी 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए 3 नवंबर को वोटिंग होगी। जबकि इनके नतीजे 10 नवंबर को घोषित किए जाएंगे। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित तमाम दिग्गज नेता जोर-शोर से चुनावी रैलियां कर रहे हैं।

ALSO READ:  मध्य प्रदेश उपचुनाव : एक क्लिक में देखें किस सीट से कौन-कौन से प्रत्याशी हैं आमने-सामने

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।