Madhya Pradesh by-elections 2020, Big scam exposed in BJP Shivraj government under questions congress kamalnath Madhya Pradesh By Elections 2020: BSP Leaders joins congress kamalnath BJP Shivraj Singh Chouhan

कमलनाथ से मुलाकात के बाद इस संयुक्त कलेक्टर का इस्तीफा, थामा कांग्रेस का दामन

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्य प्रदेश राज्य प्रशासनिक सेवा के संयुक्त कलेक्टर रमेश सिंह ने इस्तीफा दे दिया है। ठीक एक दिन पहले पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से उनकी मुलाकात हुई थी। इस मुलाकात के बाद उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया और कांग्रेस का दामन थाम लिया। रमेश सिंह अब कांग्रेस के टिकट से अनूपपुर उपचुनाव के लिए दावेदारी कर रहे हैं। हांलाकि कांग्रेस पहले ही यहां विश्वनाथ कुंजन को टिकट दे चुकी है।

सुप्रीम कोर्ट ने दिया था फ्लोर टेस्ट का आदेश, लेकिन CM कमलनाथ ने दिया इस्तीफा

रमेश सिंह की इस जिले की जनता के बीच खासी चर्चा है और अब वे भी खुलकर कह रहे हैं कि अब वह अनूपपुर की जनता की सेवा करेंगे। हालांकि, कांग्रेस इस सीट पर अपनी पहली सूची में विश्वनाथ कुंजन के नाम का ऐलान कर चुकी है। इससे पहले ज्‍वाइंट कलेक्टर रमेश सिंह इस्तीफा देने भोपाल पहुंचे थे।

ALSO READ:  जीतू पटवारी बोले- सत्ता में रहने के लिए शिवराज-सिंधिया ने प्रदेश की जनता को मरने के लिए छोड़ दिया है

Madhya Pradesh bypolls : अपनी साख बचाने के लिए फूंक-फूंक कर क़दम रख रहे कमलनाथ

रिपोर्ट्स के मुताबिक, रमेश सिंह ने भोपाल स्थित मंत्रालय परिसर में अपना इस्तीफा दिया और इसके बाद अपने एक परिचित के घर चले गए। इससे पहले उन्होंने सोमवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से मुलाकात की थी। उपचुनाव में अनूपपुर विधानसभा सीट से दावेदारी पर रमेश सिंह ने कहा कि हां यह बात सही है। मेरे नाम पर सहमति बनी है। अनूपपुर विधानसभा क्षेत्र पिछड़ा इलाका है। वहां सभी विषयों की बेहतरी के लिए मुझे लगा कि राजनीति में आना चाहिए और इसीलिए मैंने अपनी नौकरी से इस्तीफा दिया है।

मध्य प्रदेश उपचुनाव की पूरी कमान कमलनाथ ने संभाल रखी है

रमेश सिंह ने कहा एक लोक सेवक के रूप में मैंने कई जिलों में काम किया है लेकिन अपने गृह जिले में काम न कर पाने की टीस मेरे मन में हमेशा रही है। सरकारी नौकरी में रहकर मैं अनूपपुर जिले के लोगों की सेवा नहीं कर पा रहा था। सभी राजनीतिक दल हैं, लेकिन मुझे कांग्रेस की ओर से मौका दिया जा रहा है।

ALSO READ:  राजस्थान में गिरने को है कांग्रेस की सरकार, सचिन-सिंधिया की फोन पर 40 मिनट हुई बातचीत

मध्य प्रदेश उपचुनाव 2020: 24 सीटों के लिए कांग्रेस की प्लानिंग, कमलनाथ को मिली ये दो अहम जिम्मेदारी

अपनी राजनीतिक पृष्ठभूमि को लेकर रमेश सिंह ने कहा कि, इंदिरा गांधी के जमाने से मेरा परिवार कांग्रेस से जुड़ा रहा है। हमने कमलनाथ से मिलकर सभी के समर्थन का सहमति पत्र पेश किया है। उनसे निवेदन किया है कि टिकट पर पुनर्विचार करें। रमेश ने दावा किया कि कमलनाथ के आश्वासन के बाद उन्‍होंने त्यागपत्र दिया है।

मध्य प्रदेश उपचुनाव : शिवराज का कमलनाथ-दिग्विजय पर निशाना कहा, वल्लभ भवन को दलालों का अड्डा बना दिया

बता दें कि, चुनावी सरगर्मियों के बीच मध्य प्रदेश उपचुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने कहा है कि सभी 27 सीटों पर 29 नवंबर से पहले वोटिंग करा ली जाएगी। इलेक्शन कमीशन ने शुक्रवार को बड़ी घोषणा करते हुए कहा है कि, बिहार विधानसभा चुनाव के साथ ही उपचुनाव भी करवाए जाएंगे। चुनाव आयोग ने कहा कि, देश भर में 64 ऐसी विधानसभा सीट है जहां उपचुनाव होने हैं इसमें मध्य प्रदेश की 27 विधानसभा सीटें भी शामिल हैं।

ALSO READ:  भरी सभा में शिवराज ने पूछा, कमलनाथ अच्छे मुख्यमंत्री या शिवराज, जवाब मिला- कमलनाथ

मध्य प्रदेश उपचुनाव: कमलनाथ-दिग्विजय को घेरने के लिए ये है बीजेपी का ‘मास्टर प्लान’

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups