Home » HOME » कांग्रेस अनुसूचित विभाग के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र बौद्ध के कमलनाथ पर गंभीर आरोप, पार्टी ने किया निष्कासित

कांग्रेस अनुसूचित विभाग के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र बौद्ध के कमलनाथ पर गंभीर आरोप, पार्टी ने किया निष्कासित

कांग्रेस अनुसूचित विभाग के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र बौद्ध के कमलनाथ पर गंभीर आरोप, पार्टी ने निष्कासित किया
Sharing is Important

मध्य प्रदेश में जैस-जैसे उपचुनाव की सरगर्मियां तेज़ हो रही हैं। वैसे-वैसे प्रदेश में राजनीतिक उथल-पुथल का खेल भी बढ़ता दिख रहा। कांग्रेस पार्टी ने पूर्व गृह मंत्री और पीसीसी के अनुसूचित जाति विभाग के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाले महेंद्र बौद्ध को मंगलवार को पार्टी से इस लिए निष्कासित कर दिया कि बौद्ध ने मंगलवार को बहुजन समाज पार्टी की सदस्यता ले ली।

बौद्ध ग्वालियर अंचल में उपचुनाव के लिए घोषित प्रत्याशियों की सूची को लेकर नाराज चल रहे थे। वे भांडेर से चुनाव लड़ने के इच्छुक थे, लेकिन पार्टी ने बसपा के पूर्व नेता और बहुजन संघर्ष दल से कांग्रेस में आए फूलसिंह बरैया को उम्मीदवार घोषित कर दिया था।

इस कांग्रेस विधायक के निधन के बाद मध्य प्रदेश में अब 27 नहीं 28 सीटों पर होगा उपचुनाव

बौद्ध का कहना था कि अनुसूचित जाति की सीटों के प्रत्याशी चयन में अनुसूचित जाति विभाग या उसके पदाधिकारियों से कोई राय-मशविरा नहीं लिया गया। इससे पहले उन्होंने प्रदेश नेतृत्व पर अनुसूचित जाति विभाग के नेताओं और कार्यकर्ताओं की उपेक्षा का आरोप लगाया था।

महेंद्र बौद्ध ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अनुसूचित जाति विभाग के अध्यक्ष को पद से इस्तीफे के लिए भेजे गए पत्र में आरोप लगाया कि उन्होंने अपनी तरफ से जब बात रखी तो उसे भी अनदेखा किया गया।

कमलनाथ कैसे दे सकते हैं शिवराज को पटखनी, समझे इन आंकड़ों की मदद से..

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की सरकार में महेंद्र बौद्ध गृह मंत्री रहे थे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने सुरेंद्र चौधरी को पीसीसी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने के बाद उन्हें अनुसूचित जाति विभाग का प्रदेश अध्यक्ष बनाया था।

BJP पूर्व विधायक पारुल साहू कांग्रेस में शामिल, सुरखी से मिलेगा उपचुनाव का टिकट

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Scroll to Top
%d bloggers like this: