मध्य प्रदेश उपचुनाव: बीएसपी की इस रणनीति ने बढ़ा दी बीजेपी-कांग्रेस की टेंशन!

Madhya Pradesh By Elections 2020: BSP Leaders joins congress kamalnath BJP Shivraj Singh Chouhan
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्य प्रदेश उपचुनाव 2020 की तारीखों की भले ही घोषणा नहीं हुई हो लेकिन प्रमुख राजनीतिक दल बीएसपी ने अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी है। बीएसपी की ये रणनीति मुख्य दल बीजेपी और कांग्रेस से एक कदम आगे है। जहा दोनो पार्टियां प्रदेश की कुल 27 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में जोर शोर से जुटे हुए हैं वहीं ऐसे में बीएसपी द्वारा उम्मीदवारों की लिस्ट घोषित करना बताता है कि वो बीजेपी और कांग्रेस से एक कदम आगे है।

Madhya Pradesh By-Elections 2020: मध्य प्रदेश में कब होंगे उपचुनाव?

अब तक उपचुनाव की तारीखों का ऐलान नहीं हुआ है। वहीं गुरुवार को बहुजन समाज पार्टी ने आठ विधानसभा सीटों के लिए उम्मीदवारों का ऐलान करते हुए बीजेपी-कांग्रेस दोनों को चौका दिया है। ये सभी सीटें ग्वालियर-चंबल संभाग की हैं और इनमें से चार सीट सामान्य वर्ग के लिए हैं तो वहीं चार सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं।

मध्य प्रदेश उपचुनाव: बीजेपी को हराने के लिए ये है कांग्रेस का मास्टर प्लान

बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) ने सोनाराम कुशवाहा (जौरा, जिला मुरैना), राम प्रकाश राजोरिया (मुरैना), भानु प्रताप सिंह सखवार (अंबाह, जिला मुरैना), योगेश मेघसिंह नरवरिया (मेहगांव, जिला भिंड), जसवंत पटवारी (गौहद, जिला भिंड), संतोष गौड़ (डबरा, जिला ग्वालियर), कैलाश कुशवाहा (पोहरी, जिला शिवपुरी) और राजेंद्र जाटव (करैरा, जिला शिवपुरी) के नाम का ऐलान किया है।

चुनाव आयोग का बड़ा फैसला, तय समय पर होंगे मध्यप्रदेश में उपचुनाव

बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष आरके पिप्पल ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि, हमने 8 सीटों के लिए उम्मीदवार घोषित कर दिए हैं। इस उपचुनाव में बहुजन समाज पार्टी सभी 27 सीट पर चुनाव लड़ेगी और आने वाले दिनों में जल्द ही अन्य उम्मीदवारों के नामों घोषणा की जीएगी।

चुनाव के बाद भी क्यों होते हैं उपचुनाव, ये हैं 6 कारण

बता दें कि आगामी महीनों में मध्य प्रदेश में 27 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं। जिसके लिए राजनीतिक दल कमर कस चुके हैं। बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों में दलबदल का सिलसिला जारी है। बीते दिनों ग्वालियर-चंबल में एक रैली के दौरान ज्योतिरादित्य के नेतृत्व में करीब 76 हजार कांग्रेस कार्यकर्ता बीजेपी में शामिल हुए तो वहीं इस दौरान कई जगह सिंधिया के खिलाफ आक्रोश रैली भी निकली।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।