Home » मध्य प्रदेश उपचुनाव से पहले शिवराज-सिंधिया को बड़ा झटका, 300 बीजेपी कार्यकर्ता कांग्रेस में शामिल

मध्य प्रदेश उपचुनाव से पहले शिवराज-सिंधिया को बड़ा झटका, 300 बीजेपी कार्यकर्ता कांग्रेस में शामिल

मुरैना में लगे ज्योतिरादित्य सिंधिया विरोधी नारे,
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्य प्रदेश उपचुनाव से पहले धार जिले में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। बुधवार को यहां आयोजित कांग्रेसी कार्यक्रम में लगभग 300 बीजेपी कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस का दामन थाम लिया। भारतीय जनता पार्टी के साथ ही जिले के कद्दावर नेता ओर भाजपा के मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव को एक बड़ा झटका दिया है। उपचुनाव से पहले इस तरह इतने बीजेपी कार्यकर्ताओं का एक साथ पार्टी छोड़ कांग्रेस में शामिल हो जाना मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है। बदनावर क्षेत्र के कांग्रेसी नेता ओर उपचुनाव के संभावित उम्मीदवार ध्रुव नारायण सिंह बिड़वाल की अगुआई में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व गृह मंत्री बाला बच्चन भी मौजूद रहे।

मध्य प्रदेश उपचुनाव से पहले शिवराज को बड़ा झटका, बीजेपी नेता सिकरवार कांग्रेस में शामिल

पूर्व मंत्री हनी बघेल , जिला कांग्रेस अध्यक्ष बालमुकुंद सिंह गौतम, झाबुआ के विधायक कांतिलाल भूरिया सहित कांग्रेसी नेताओं की उपस्थिति में 300 कार्यकर्ताओं ने बीजेपी छोड़ कांग्रेस की सदस्यता ली। आपको बता दें कि इससे पहले भी यहां बड़ी संख्या में कांग्रेस पार्टी में भाजपाई शामिल हुए थे। वहीं राजवर्धन सिंह दत्ती गांव के भाजपा में शामिल होने के बाद क्षेत्र के उनके कट्टर समर्थक कांग्रेसी भी भाजपा में शामिल हो गए थे।

Madhya Pradesh bypolls : अपनी साख बचाने के लिए फूंक-फूंक कर क़दम रख रहे कमलनाथ

बता दें कि इससे पहले ग्वालियर के दिग्गज नेता डॉ. सतीश सिकरवार भी बीजेपी छोड़ कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। सतीश सिकरवार ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के निवास पर मुलाकात कर अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ भेंट कर कांग्रेस मे शामिल हो गए हैं। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने तिरंगा दुपट्टा पहनाकर सतीश सिकरवार का स्वागत किया और कार्यकर्ताओं को कांग्रेस में शामिल होने पर उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दीं।

READ:  If Congress govt formed, Article 370 will be restored: Digvijay Singh

मध्य प्रदेश उपचुनाव: ग्वालियर-चंबल संभाग की वो 16 सीटें जिन पर होना है उपचुनाव

बीजेपी छोड़ सतीश सिकरवार का यूं अचानक कांग्रेस शामिल में होना ज्योतिरादित्य सिंधिया और शिवराज सिंह चौहान के लिए किसी झटके से कम नहीं है। क्योंकि सिकरवार की ग्वालियर बीजेपी में अच्छी-खासी पैंठ हैं और यहां जनता और कार्यकर्ता पर उनकी पकड़ मजबूत है। अब कांग्रेस में शामिल होने पर इसका फायदा कमलनाथ को होगा।

मध्य प्रदेश उपचुनाव: कांग्रेस ने इन 15 सीटों पर फाइनल किए अपने उम्मीदवार, देखें लिस्ट

बता दें कि, मध्य प्रदेश उपचुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने कहा है कि सभी 27 सीटों पर 29 नवंबर से पहले वोटिंग हो जाएगी। इलेक्शन कमीशन ने शुक्रवार को बड़ी घोषणा करते हुए कहा है कि, बिहार विधानसभा चुनाव के साथ ही उपचुनाव भी करवाए जाएंगे। चुनाव आयोग ने कहा कि, देश भर में 64 ऐसी विधानसभा सीट है जहां उपचुनाव होने हैं इसमें मध्य प्रदेश की 27 विधानसभा सीटें भी शामिल हैं।

मध्य प्रदेश उपचुनाव: शिवराज का ‘विकास’ नहीं, ‘रामशीला यात्रा’ जिताएगी बीजेपी को चुनाव! 

इसके साथ ही चुनाव आयोग ने कहा है कि एक लोकसभा सीट पर भी 29 नंबवर से पहले चुनाव होंगे। वहीं इलेक्शन कमीशन ने ये भी साफ कर दिया है कि बिहार विधानसभा चुनाव भी 29 नंबवर से पहले कराए जाएंगे। चुनाव आयोग का कहना है कि, कई राज्यों ने कोरोना संकट और बाढ़ को देखते हुए चुनाव टालने की मांग की थी, लेकिन राज्यों के CEO और मुख्य सचिव की रिपोर्ट के आधार पर ये फैसला लिया गया है।

चुनाव आयोग के इस फैसले के बाद उम्मीद जताई जा रही है कि मध्य प्रदेश अब नंवबर मध्य तक वोटिंग हो सकती है। इससे पहले 21 अगस्त को चुनाव आयोग ने कोरोना को ध्यान में रखते हुए चुनाव कराने की गाइडलाइंस जारी की थी। इस गाइडलाइंस के मुताबिक, उम्मीदवार को नामांकन पत्र, शपथ पत्र और नामांकन को लेकर सिक्युरिटी मनी ऑनलाइन ही जमा करना होगा।

READ:  Shav-Vahini Ganga: Parul Khakkar's poem and controversy

मध्य प्रदेश उपचुनाव: बीजेपी की योजना जमीनी स्तर पर तय!

इसके मुताबिक, चुनाव कार्य को लेकर सभी व्यक्ति मास्क लगाएंगे। चुनाव से जुड़े हॉल, रूम या परिसर में प्रवेश के दौरान थर्मल स्कैनिंग की जाएगी. वहां सेनिटाइजर, साबुन और पानी की व्यवस्था की जाएगी। सभी को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। घर-घर जाकर पांच लोगों को संपर्क की अनुमति दी जाएगी।

कोरोना के चलते चुनाव आयोग ने अतिरिक्त 2225 बूथों की संख्या बढ़ाई
मध्य प्रदेश में उपनुचाव वाले सभी जिलों के कलेक्टरों ने निर्वाचन आयोग को चुनाव कराने के लिए अपनी सहमति दे दी है। निर्वाचन आयोग की तैयारियों को देखते हुए संभावना जताई जा रही है कि 15 अक्टूबर के बाद चुनाव हो सकते हैं। कोरोना वायरस के खतरे को भांपते हुए इन चुनाव में अतिरिक्त 2225 बूथों की संख्या बढ़ाने का फैसला किया गया है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।