Bihar Vidhan Sabha Election : चुनाव आयोग के अनुसार इस तरह होंगे चुनाव, देखें गाइडलाइन

मध्य प्रदेश उपचुनाव: चुनाव आयोग का एग्जिट पोल पर प्रतिबंध, सभी 28 सीटों के जारी किए निर्देश

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्य प्रदेश उपचुनाव (Madhya Pradesh By Elections 2020) को लेकर चुनाव आयोग (Election Commission) ने अहम फैसला लेते हुए कहा कि प्रदेश की सभी 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के दौरान एग्जिट पोल (Exit Polls) पर पाबंदी लगा दी है। इस मामले में कार्यालय मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी (Chief Election Officer) ने संबंधित जिलों के कलेक्टरों और जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश जारी करते हुए कहा कि 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के एग्जिट पोल पर पाबंदी लगा दी गई है। चुनाव आयोग के इस निर्देश के बाद जाहिर के प्रदेश में अब उपचुनाव के एग्जिट पोल नहीं होंगे।

बता दें कि मध्य प्रदेश उपचुनाव के चलते प्रदेश में राजनीतिक हलचल तेज हो गई है। बीजेपी कांग्रेस और बीएसपी सहित तमाम निर्दलीय उम्मीदवार जोर-शोर से जनसभाएं कर रहे हैं। ग्वालिय-चंबल की 16 जबकि प्रदेश की अन्य 12 सीटों पर उपचुनाव होना है। चुनाव आयोग ने कहा कि प्रदेश की सभी 28 सीटों पर 3 नवंबर को वोटिंग होगी होगी। जबकि इनके नतीजें 10 नवंबर तक घोषित किए जाएंगे।

भरी सभा में शिवराज ने पूछा, कमलनाथ अच्छे मुख्यमंत्री या शिवराज, जवाब मिला- कमलनाथ

बीजेपी और कांग्रेस सभी 28 सीटों पर अपने उम्मीदवार घोषित कर चुके हैं। जबकि बीएसपी ने भी इन उपचुनाव के लिए 28 उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है। वहीं चुनाव आयोग कोरोना को देखते हुए मतदान केंद्रो पर नए बंदोबस्त कर रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन हो इस बात को भी ध्यान में रखा जा रहा है।

इन 28 सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं.. 1. ग्वालियर 2. डबरा 3. बमोरी 4. सुरखी 5. सांची 6. सांवेर 7. सुमावली 8. मुरैना 9. दिमनी 10. अम्बाह 11. मेहगांव 12. गोहद 13. ग्वालियर पूर्व 14. भांडेर 15. करेरा 16. पोहरी 17. अशोकनगर 18. मुंगावली 19. अनूपपुर 20. हाटपिपल्या 21. बदनावर 22. सुवासरा 23. मलहरा 24. नेपानगर 25. मांधाता 26. जौरा 27. आगर 28. ब्यावरा विधानसभा।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.