Home » मध्य प्रदेश उपचुनाव : नर्मदा माइक्रो सिंचाई परियोजना को लेकर भाजपा और कांग्रेस में क्यों मचा है घमासान ?

मध्य प्रदेश उपचुनाव : नर्मदा माइक्रो सिंचाई परियोजना को लेकर भाजपा और कांग्रेस में क्यों मचा है घमासान ?

शिवराज जी को ऐसा तमाचा लगने वाला है जिसको वो याद रखेंगे : कमलनाथ
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्य प्रदेश में 27सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर कांग्रेस और बीजेपी के बीच सियासी घमासान जारी है। मगर ताज़ा धमासान नर्मदा नदी को लेकर मचा हुआ है। बदनावर की नर्मदा माइक्रो सिंचाई परियोजना पर शिवराज सरकार में मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव और कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे सुरेंद्र सिंह बघेल आमने-सामने आ गए हैं। दोनों के बीच इस परियोजना का श्रेय लेने की होड़ शुरू हो गई है।

राज्यवर्धन दत्तीगांव ने अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल पर एक वीडियो जारी करते हुए आम जनता से 19 सितंबर को कोटेश्वर आने की अपील की। उन्होंने लिखा कि आइए हम सब मिलकर मां नर्मदा का स्वागत करें। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नर्मदा को बदनावर लाने का संकल्प पूरा करने आ रहे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी की सीधी ‘एंट्री’ पर बिफर पड़े कमलनाथ

उनके इस ट्वीट पर पूर्व मंत्री सुरेंद्र बघेल ने पलटवार करते हुए लिखा कि कमलनाथ सरकार द्वारा बदनावर के किसानों के हित में लिए गए फैसले का शिवराज और दत्तीगांव जी क्रेडिट से ले रहे हैं। कहीं यह उपचुनाव में हार का भय तो नहीं है।

17 फरवरी 2020 को इस नर्मदा माइक्रो सिंचाई परियोजना का वर्क ऑर्डर जारी किया गया था। इसलिए यह योजना कमलनाथ सरकार की देन है। नर्मदा पर यह सियासत इसलिए भी मायने रखती है क्योंकि मध्य प्रदेश में जिन 27 सीटों पर उपचुनाव होना है, उनमें से एक बदनावर भी शामिल है। बदनावर से ही राज्यवर्धन दत्तीगांव विधायक थे, लेकिन उन्होंने कांग्रेस से इस्तीफा देकर ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ बीजेपी का दामन थाम लिया है।

अपनी साख बचाने के लिए फूंक-फूंक कर क़दम रख रहे कमलनाथ

बता दें कि, चुनावी सरगर्मियों के बीच मध्य प्रदेश उपचुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने कहा है कि सभी 27 सीटों पर 29 नवंबर से पहले वोटिंग करा ली जाएगी। इलेक्शन कमीशन ने शुक्रवार को बड़ी घोषणा करते हुए कहा है कि, बिहार विधानसभा चुनाव के साथ ही उपचुनाव भी करवाए जाएंगे। चुनाव आयोग ने कहा कि, देश भर में 64 ऐसी विधानसभा सीट है जहां उपचुनाव होने हैं इसमें मध्य प्रदेश की 27 विधानसभा सीटें भी शामिल हैं।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।