Home » HOME » अपने कार्यकर्ताओं की हत्या से नाराज बीजेपी का फूटा गुस्सा, फूंका CM कमलनाथ का पुतला

अपने कार्यकर्ताओं की हत्या से नाराज बीजेपी का फूटा गुस्सा, फूंका CM कमलनाथ का पुतला

madhya pradesh BJP burning of effigy cm kamalnath in bhopal at board office 2 party worker killed
Sharing is Important

रजत भारती | भोपाल

बीते दिनों बीजेपी के दो कार्यकर्ताओं की हुई हत्या से मध्य प्रदेश से नाराज बीजेपी की मध्य प्रदेश ईकाई ने प्रभात झा के नेतृत्व में मुख्यमंत्री कमनलनाथ का पुतला फूंका। भोपाल के बोर्ड ऑफिस चौराहे पर करीब 100 की संख्या में पार्टी के कई नेता और कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार पर पक्षपात और बदले की राजनीति का आरोप लगाते हुए कमलनाथ का पूतला दहन किया और वर्तमान कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किए।

इस मामले में बीजेपी नेता वीडी शर्मा ने कहा कि, सरकार बदलते ही प्रदेश में बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या हो रही है। कानून व्यवस्था लचर है। मध्य प्रदेश आज अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रहा है। जिस तरह से राजनीतिक हत्याएं हो रही हैं हम इसका विरोध करते हैं।

वहीं इस मामले में कांग्रेस ने कहा कि, ये बीजेपी की आपसी कलह है जो हार के बाद अब खुलकर सामने आ रही है। बीजेपी कार्यकर्ताओं की आपसी रंजीश और मनमुटाव के चलते ये हत्याए हुई हैं जिसे बीजेपी राजनीतिक रूप देने का काम कर रही है।

बता दें कि सूबे में बीते चार दिनों में बीजेपी के दो कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है। इसमें पहली हत्या मंदसौर में हुई, जहां गुरुवार रात बीजेपी नेता और नगर परिषद अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्या का आरोप बीजेपी कार्यकर्ता मनीष बैरागी पर लगा। हत्या की वजह जमीनी विवाद बताई गई थी।

READ:  List of Big Politicians Who joined TMC So Far

जबकी इसके बाद रविवार को प्रदेश में एक अन्य बीजेपी कार्यकर्ता की नृशंस हत्या कर दी गई। ये घटना बड़वानी जिले की है, जहां रविवार सुबह सैर पर निकले भारतीय जनता पार्टी के बलबाड़ी मंडल अध्यक्ष मनोज ठाकरे की अज्ञात आरोपियों ने पत्थर से नृशंस हत्या कर दी थी।

राज्य के गृहमंत्री बाला बच्चन ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा है कि ठाकरे की हत्या करने वाले उनके करीबी होने की आशंका हैं। मंदसौर में भी ऐसा ही हुआ था, वहां भी बीजेपी नेता के हत्यारा उनका करीबी निकला। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हत्या की बढ़ती वारदातों पर ट्वीट कर कहा, ‘एक के बाद एक बीजेपी नेताओं की हत्या होना बहुत गंभीर मामला है। कांग्रेस इसको सतही तौर पर लेकर क्रूर मजाक कर रही है। गृह मंत्री के गृह जिले में सरेआम भारतीय जनता पार्टी के लज़कप्रिय मंडल अध्यक्ष मनोज ठाकरे को मार दिया गया।’ 

वहीं राज्य के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने बीजेपी नेताओं की हत्या को आपसी विवाद का प्रतिफल बताया है। उनका कहना है कि राज्य में 15 सालों में जो कुछ हुआ है, उसी के चलते यह हो रहा है। आपसी विवाद है। मंदसौर में बीजेपी नेता की हत्या उन्हीं के लोगों ने की और अब यही बात बड़वानी में सामने आएगी। ज्ञात हो कि मंदसौर जिले में गुरुवार की रात को नगर परिषद अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्या का आरोप बीजेपी कार्यकर्ता मनीष बैरागी पर लगा। हत्या की वजह जमीनी विवाद बताया गया। 

READ:  अभिव्यक्ति की आज़ादी पर मंड़राते ख़तरे को पहचानना ज़रूरी…!

बीजेपी की प्रदेश इकाई के महामंत्री वीडी शर्मा ने कहा कि राज्य में एक बार फिर वर्ष 2003 से पहले के ‘गुंडाइज्म’ की वापसी हो गई है। राज्य में अपराध लगातार बढ़ रहे हैं, बीजेपी नेताओं की हत्या हो रही है। शर्मा ने राज्य की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि राज्य में अपराधों की बाढ़ सी आ गई है, बीजेपी के नेताओं को निशाना बनाया जा रहा है। राज्य में अपराधों पर विराम नहीं लगा तो बीजेपी इसके खिलाफ सड़कों पर उतरेगी। 

Scroll to Top
%d bloggers like this: