Home » Madhya Pradesh: बच्चों की जान खतरे में डाल स्कूल करवा रहा था 10वीं परीक्षा, पुलिस ने मार दिया छापा

Madhya Pradesh: बच्चों की जान खतरे में डाल स्कूल करवा रहा था 10वीं परीक्षा, पुलिस ने मार दिया छापा

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Madhya Pradesh के गुरुकुल हायर सेकेंडरी पब्लिक स्कूल (Gurukul Higher Secondary Public School ) में चोरी छिपे 30 से 40 छात्रों को बुलाकर 10वीं की परीक्षा (10 th Exam 2021) कराई जा रही थी। देश में बढ़ते कोरोना (Corona) के मामलों की वजह से सरकार ने 10वीं की परीक्षाएं कराने पर रोक लगाई है। इसके बावजूद Madhya Pradesh के एक स्कूल में स्कूल संचालन चोरी छिपे बच्चों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर उनकी 10वीं की परीक्षा करा रहे थे। वहीं उनकी तरफ से छात्रों के माता-पिता को भी चेतावनी दी गई थी कि अगर परीक्षा में बच्चे नहीं आए तो उन्हें स्कूल से निकाल दिया जाएगा। जिससे डर कर माता पिता ने अपने बच्चों को इस कोरोना ( Corona) काल में भी स्कूल भेजना पड़ा।

मध्य प्रदेश (MP) के एक स्कूल में Police ने मारा छापा
बच्चों की जिंदगी को खतरे में डाल कर ,सरकार के नियमों (Government Guidelines) का उलंघन कर Madhya Pradesh के गुरुकुल हायर सेकेंडरी पब्लिक स्कूल में चोरी-छिपे परीक्षा का आयोजन कराते हुए पुलिस ने छापा मारा। स्कूल प्रशासन ने स्कूल में कराई जा रही परीक्षा को लोगों से छिपाना चाहा, इस परीक्षा के बारे में सभी को पता भी चला और स्कूल के खिलाफ एक्शन भी लिया गया।

स्कूल (School) के खिलाफ दर्ज हुआ केस
सरकार से छुप कर परीक्षा का आयोजन कर रहे स्कूल संचालक ने प्रशासन की टीम को देखकर भागने की कोशिश। पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। वहीं बच्चों के माता पिता से पूछताछ करने पर पता चला की स्कूल प्रशासन ने उन्हें धमकी दी थी। जिसके चलते उन्हें अपने बच्चों को स्कूल भेजना पड़ा। पुलिस ने स्कूल के खिलाफ धारा 144 के उल्लंघन तहत मामला दर्ज किया। वहीं नियम के अनुसार स्कूल के खिलाफ और भी एक्शन लिए जाएंगे.

Madhya Pradesh में अभी भी corona का खतरा बरकरार
Madhya Pradesh में कोरोना के मामले कम तो हुए ,लेकिन खतरा अभी भी बरकरार है। ऐसे में स्कूल में चोरी छिपे कराई जा रही परीक्षा ने सबको हैरत में डाल दिया है। जहां सरकार कोरोना के चलते 12वीं की परीक्षा को लेकर असमंजस में है। ऐसे में सरकार के नियमों का उलंघन कर 10वीं की परीक्षा कराना एक बहुत बड़ी लापरवाही का संकेत है। देश में बढ़ते कोरोना (Corona) मामलों के चलते किसी भी स्कूलों में परीक्षा का आयोजन कराना खतरे से खाली नहीं होगा।यह बात स्कूलों को समझनी होगी। जिससे बच्चे अपने घरों में सुरक्षित और स्वस्थ्य रह सकें।

READ:  मध्य प्रदेश: 35 वर्षीय महिला ने किया नाबालिग लड़के का यौन शोषण