लोकसभा चुनाव 2019 में बेरोजगारी का मुद्दा बढ़ा सकता है PM मोदी की मुश्किलें

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भोपाल, 10 अगस्त। महात्मा गांधी के 150 वीं जयंती वर्ष के अवसर पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए I-PAC द्वारा शुरू की गई पहल नेशनल एजेंडा फोरम (NAF) की टीम मध्य प्रदेश की भोपाल पहुंची हुई है, जहां उन्हें शहर के युवाओं जमकर समर्थन मिल रहा है। भारत छोड़ो आन्दोलन की 74वीं वर्षगांठ पर फील्ड विजिट कर रही नेशनल एजेंडा फोरम की टीम ने भोपाल स्थित LNCT कॉलेज में चर्चा का आयोजन किया।

इस चर्चा में स्टूडेंट्स ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया। कार्यक्रम में कॉलेज के छात्रों ने देश का एजेंडा तैयार करने की इस मुहिम को समर्थन देने का ऐलान किया। कार्यक्रम में स्टूडेंट्स ने देश की सबसे बड़ी आबादी, युवाओं को रोजगार के साधन मुहैया कराना देश की प्रमुख प्राथमिकता बताया, साथ ही छात्रों के अनुसार रोजगार का मुद्दा राष्ट्रीय एजेंडे में प्राथमिक रूप से शामिल होना चाहिए।

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019 के रुझानों में 49% वोटों के साथ PM मोदी पहली पसंद

देश में बढ़ती बेरोजगारी से परेशान युवाओं ने एनएएफ के जरिए साफ कर दिया है कि आगामी लोकसभा चुनाव में रोजगार जैसा सबसे अहम मुद्दा राजनीतिक पार्टियों के लिए प्राथमिक होना चाहिए। वहीं स्टूडेंट्स ने देश में शिक्षा व्यवस्था को बेहतर करने पर भी जोर दिया। कार्यक्रम के दौरान गांधीजी के 18 सूत्रीय एजेंडे, जिनमें आर्थिक समानता, खेती का विकास, प्रांतीय भाषाओं का विकास, खादी ग्रामोद्योग आदि शामिल है, पर कार्यक्रम में मुख्य रुप से चर्चा हुई।

इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमिटी (I-PAC) ने महात्मा गांधी के 150वीं जयंती वर्ष के अवसर पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए 29 जून 2018 को नेशनल एजेंडा फोरम (NAF) लॉन्च किया है। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर लॉन्च किए गए नेशनल एजेंडा फोरम के तहत 14 अगस्त 2018 तक लोग https://www.indianpac.com/naf/ पर लॉग इन कर अपना वोट देकर एजेंडा तय कर सकते हैं। 15 अगस्त 2018 को लोगों द्वारा तय किए गए देश के एजेंडा का ऐलान होगा।

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019 के लिए I-PAC की रणनीति तैयार, PM मोदी को मिलेगा प्रशांत किशोर का साथ!

अब तक नेशनल एजेंडा फोरम से 6 देश एवं 21 राज्यों के 225 प्रतिष्ठित शख्सियत, 4,000 से अधिक कॉलेजों से 50,000 युवा एसोसिएट्स NAF से जुड़ चुके हैं। साथ ही 346 जिलों में फैले 283 सामाजिक संगठनों ने भी NAF को अपना समर्थन दिया है। गांधीवादी संगठन गांधी स्मारक निधि, सर्वोदय आश्रम, अंतराष्ट्रीय संस्था यूनेस्को-एमजीआईईपी ने भी सतत विकास एवं शांति का प्रसार करने के लिए NAF के प्रयास को समर्थन दिया है।

देश की कई जानी-मानी हस्तियों, विश्वविजेता बॉक्सर मैरीकॉम, कॉमनवेल्थ गेम्स में पदक विजेता बबिता फोगाट, अभिनेता पीयूष मिश्रा, रजा मुराद के अलावा कई मशहूर शख्सियतों ने समर्थन दिया है। मध्य प्रदेश से संबंध रखने वाली कई प्रतिष्ठित शख्सियतें भी नेशनल एजेंडा फोरम के साथ आई हैं।

यह भी पढ़ें: देश में एक साथ चुनाव चाहते हैं PM मोदी… जानिए आखिर कितना संभव है ये

वागेश्वरी अवॉर्ड से सम्मानित लेखक मनीष वैद्य, गांधी भवन न्यास के अरविंद चतुर्वेदी, वरिष्ठ लेखक विजय बहादूर सिंह, क्रिकेटर इश्वर पांडे, पूर्व हॉकी खिलाड़ी अशोक ध्यानचंद के अलावा गांधीजी द्वारा शुरू की गई पत्रिका ‘वीणा’ के संपादक राकेश शर्मा ने भी नेशनल एजेंडा फोरम को अपना समर्थन दिया है। इंदौर के रहनेवाले गांधीवादी प्रो. पुष्पेंद्र ने भी नेशनल एजेंडा फोरम को समर्थन दिया है।

समाज और राजनीति की अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर फॉलो करें- www.facebook.com/groundreport.in/