Home » कोई भी कच्चा मकान नहीं रहने देंगे, हर घर में नल से पानी मिलेगा !

कोई भी कच्चा मकान नहीं रहने देंगे, हर घर में नल से पानी मिलेगा !

मुख्यमंत्री शिवराज
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्य प्रदेश उपचुनाव में आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला भी लगातार जारी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को पंचायत एवं ग्रामीण विकास के 106 करोड़ रुपये से बने पंचायत और सामुदायिक भवनों का लोकार्पण करते हुए कांग्रेस सरकार और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर जम कर हमला बोला।

इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा कि मुझ पर आरोप लगाए जाते हैं कि जेब में नारियल लेकर चलता हूं तो नारियल भगवान के चरणों में चढ़ाया जाता है। जनता ही मेरी भगवान है। जहां मांगती है, समर्पित कर देता हूं और काम यथार्थ में होता है।

बीजेपी प्रत्याशी सुरेश धाकड़ बोले, मैंने अपने आपको बीजेपी को बेच दिया है लेकिन मैं सिंधिया के लिए बिका हूँ…

मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 318 पंचायत भवन, 262 सामुदायिक भवन और 1004 सामुदायिक स्वच्छता परिसर का लोकार्पण किया। उन्होने आगे बोलते हुए कहा कि-डेढ़ साल तक गांवों में विकास के काम रुके हुए थे।

पिछली सरकार में डेढ़ साल तक सरपंचों को पंच परमेश्वर की राशि ही नहीं मिली। फाइलें खोलकर देखीं तो आश्चर्य हुआ कि वित्त आयोग की राशि तक रोक ली। सरकार में आते ही राशि जारी कराई और आज लोकार्पण कर रहे हैं।

मध्य प्रदेश उपचुनाव: ताज़ा सर्वे ने उड़ाई बीजेपी की नींद, कमलनाथ का मुख्यमंत्री बनना तय

इस दौरान उन्होंने जनप्रतिनिधियों से संवाद करते हुए कहा कि किसानों की आय बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री कल्याण निधि में अलग से सालाना चार हजार रुपये दिए जाएंगे। तीन साल में कोई भी कच्चा मकान नहीं रहने देंगे। गांव विकास की दौड़ से अधूते नहीं रहेंगे। तीन साल में हर घर में नल से पानी मिलेगा।

उन्होंने जनप्रतिनिधियों से कहा कि गरीब और किसानों को संबल देने के काम में मददगार बनें। चुनाव के बाद फिर आपके बीच आऊंगा और मिलकर तेजी के साथ विकास के काम करेंगे। एक नई योजना खेत सड़क शुरू करने वाले हैं। इससे खेती के कामों में मदद मिलेगी।

सिंधिया बोले, मैं आपकी ढाल-तलवार बनूंगा, अतिथि शिक्षक ने टोकते हुए कहा- आप कुछ भी नहीं बन पाए महाराज

गांव के विकास में पैसे की कमी नहीं आने दूंगा। यदि मुख्यमंत्री कहने लगे कि पैसे की कमी है तो फिर किस काम का मुख्यमंत्री। राह तब निकलती है, जब दिल में कसक होती है। नेता वो होता है, जो राह निकालता है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।