लोकसभा चुनाव में PM मोदी की नैया पार लगाने वाले प्रशांत किशोर खोलेंगे BJP के खिलाफ मोर्चा

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नई दिल्ली, 9 सितंबर। लोकसभा चुनाव 2014 में बीजेपी के लिए पॉलिटिकल पीआर और चुनावी कैंपेनिंग कर चर्चा में आए प्रशांत किशोर ने अहम फैसला लेते हुए सबको चौंका दिया है। खबर है कि प्रशांत किशोर जल्द ही राजनीति में कदम रखने वाले हैं। एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, I-PAC प्रमुख प्रशांत किशोर लोकसभा चुनाव 2019 में अपनी किस्मत आजमाने के लिए तैयारी कर रहे हैं वे जल्द ही सार्वजनिक तौर पर इस घोषणा करने वाल हैं।

यह भी पढ़ें: Lok Sabha Election 2019: तो इन मुद्दों पर आमने-सामने होंगे PM मोदी और राहुल गांधी

बता दें कि प्रशांत किशोर की पॉलिटिकल पीआर कंपनी आईपैक इन दिनों आंध्र प्रदेश में दिग्गज नेता जगन रेड्डी की राजनीतिक रणनीतिकार के तौर पर काम कर रही है। इससे पहले प्रशांत किशोर और उनकी टीम ने बीजेपी को साल 2014 में एतिहासिक जीत दिलवाने में अहम भूमिका निभाई थी।

READ:  In Kargil: BJP sharing power with ‘Gupkar gang’ member NC

यह भी पढ़ें: देश में एक साथ चुनाव चाहते हैं PM मोदी… जानिए आखिर कितना संभव है ये

वहीं साल 2015 में विधानसभा चुनाव के दौरान महागठबंधन और साल 2017 में उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के लिए आईपैक ने कैंपेनिंग की थी। इससे पहले अटकले लगाई जा रही थी कि प्रशांत किशोर एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए लोकसभा चुनाव 2019 में चुनावी कैंपेनिंग कर सकते हैं, लेकिन आज आई इस खबर ने इन अटकलों को खारिज कर दिया है।

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019 के रुझानों में 49% वोटों के साथ PM मोदी पहली पसंद

हांलाकि अभी यह बात स्पष्ट नहीं हो पाई है कि, बीते छह सालों से अलग-अलग राजनीतिक दलों के लिए चुनाव अभियान कर रहे प्रशांत किशोर किशोर अगर राजनीति में कदम रखते हैं तो वे किस दल के साथ जाएंगे। एनडीटी की खबर के मुताबिक, प्रशांत किशोर आज शाम हैदराबाद में इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस के छात्रों के साथ रूबरू होने के दौरान इस बात की विधिवत घोषणा करेंगे।

READ:  बीजेपी-सिंधिया के बीच 'हनीमून पीरियड' में ही शुरू हुई तू-तू मैं-मैं, टूटने की कगार पर गठबंधन!

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019 में बेरोजगारी का मुद्दा बढ़ा सकता है PM मोदी की मुश्किलें

समाज और राजनीति की अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर फॉलो करें- www.facebook.com/groundreport.in/