भारतीय रेलवे की बड़ी घोषणा, 1 जून से रोजाना चलाई जाएंगी 200 ट्रेन

Ground Report News Desk | New Delhi

कोरोना संकट के चलते देश में लगाए गए लॉकडाउन की वजह से लाखों लोग अन्य राज्यों में अपने घर से दूर अन्य राज्यों में फंसे हुए हैं। मजदूरों को अपने घरों तक लाने के लिए सरकार ने स्पेशल ट्रेन तो चलाई है लेकिन वो नाकाफी साबित हो रही है। वहीं अब भारतीय रेलवे ने फैसला किया है कि श्रमिक ट्रेनों के अलावा 1 जून से 200 नॉन एसी ट्रेनों को चलाई जाएगी।

इस संबंध में भारतीय रेलवे ने ट्वीट कर कहा कि, इन श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के अतिरिक्त भारतीय रेल 1 जून से प्रतिदिन 200 अतिरिक्त टाइम टेबल ट्रेनें चलाने जा रहा है जो कि गैर वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी की ट्रेन होंगी एवं इन ट्रेनों की बुकिंग ऑनलाइन ही उपलब्ध होगी। ट्रेनों की सूचना जल्द ही उपलब्ध कराई जाएगी।

इसके पहले भी रेलवे ने एक ट्वीट कर जानकारी दी थी कि ‘भारतीय रेल द्वारा निरंतर श्रमिक ट्रेनों का परिचालन जारी है। अब तक कुल 1600 ट्रेनों के माध्यम से लगभग 21.5 लाख श्रमिकों को उनके स्थानों तक पहुंचाया जा चुका है। श्रमिकों को बड़ी राहत देते हुए भारतीय रेल आज के दिन लगभग 200 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन करने जा रहा है।

Also Read:  Shanghai Lockdown,What Next in India?

गौरतलब है कि लॉकडाउन में भी प्रवासी कामगारों का पलायन बड़े पैमाने पर जारी है। इसे देखते हुए केंद्र सरकार ने विशेष ट्रेनें चलाने का फैसला लिया था। हांलाकि कुछ राज्यों ने श्रमिक ट्रेनों को अपने यहां आने की अनुमति नहीं दी थी। इसे लेकर रेलवे ने कहा है कि ट्रेनों के संचालन के लिए संबंधित राज्यों की अनुमति की जरूरत नहीं है। गृह मंत्रालय ने प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में पहुंचाने के लिए इन ट्रेनों को चलाने के वास्ते रेलवे के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) जारी की।

इस मामले में रेलवे के प्रवक्ता राजेश बाजपेई जानकारी देते हुए बताया कि, ‘श्रमिक विशेष ट्रेनों को चलाने के लिए उन राज्यों की सहमति की आवश्यकता नहीं है जहां यात्रा समाप्त होनी है। नई एसओपी के बाद उस राज्य की सहमति लेना अब आवश्यक नहीं है जहां ट्रेन का समापन होना है।