अमित शाह, केजरीवाल, आसाराम, अफ़ज़ल गुरु.. राम जेठमलानी के मुवक्किलों की लिस्ट लंबी थी..

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट । न्यूज़ डेस्क

सुप्रीम कोर्ट के सबसे महंगे वकील और पूर्व केंद्रीय कानून मंत्री राम जेठमलानी का 95 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। 2017 में उन्होंने वकालत से रिटायरमेंट लिया था। देश के सबसे विद्वान वकीलों में से एक जेठमलानी ने अपनी वकालत से कई बार हैरान किया उनके मुवक्किलों की लिस्ट देखकर आप उनके कद का अंदाज़ा लगा सकते हैं। अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में वो कानून मंत्री बनें फिर शहरी विकास मंत्री भी रहे। गुलाम भारत में मात्र 17 वर्ष की आयु में वकील बनें। जेठमलानी आज़ादी से अब तक भारत की विकास यात्रा के साक्षी रहे। ब्रिटिश कालीन जूरी में भी जेठमलानी वकालत कर चुके थे। विख्यात नानावती मुकदमा उन्होंने ही लड़ा था। अब हम आपको उनके द्वारा लड़े गए 10 बड़े मुकदमों के बारे में बताते हैं।

READ:  Corona Vaccine के साइड इफेक्ट से बचने के लिए अपनी डायट में शामिल करें ये 5 चीजें

1. इंदिरा गांधी के हत्यारों के वकील रहे जेठमलानी- राम जेठमलानी नें इंदिरा गांधी के हत्यारों के पक्ष में वकालत की थी।

2. राजीव गांधी के हत्यारों के वकील- 2011 में मद्रास हाई कोर्ट में जेठमलानी ने राजीव गांधी के हत्यारों के पक्ष में पैरवी की थी।

3. हर्षद मेहता और केतन पारेख का केस: स्टॉक मार्केट घोटाले में आरोपी हर्षद मेहता और केतन पारेख का बचाव जेठमलानी ने किया था। इस घोटाले ने देश में भूचाल ला दिया था।

4.अंडरवर्ल्ड डॉन हाजी मस्तान का केस- नेता से लेकर डॉन तक हर कोई जेठमलानी का क्लाइंट हुआ करता था।

5. जेसिका लाल हत्याकांड में अभियुक्तों के वकील: बहुचर्चित जेसिका लाल हत्याकांड केस में जेठमलानी ने अभियुक्त मनु शर्मा की पैरवी की थी।

6. सोहराबुद्दीन केस में अमित शाह के वकील– सोरबुद्दीन एनकाउंटर केस में जेठमलानी ने अमित शाह की पैरवी की थी। उस समय अमित शाह गुजरात के गृह मंत्री थे।

READ:  Coronavirus Covid19 infection time: संक्रमित व्यक्ति के साथ कितनी देर रहने में होगा कोरोना

7. चारा घोटाले में लालू के वकील – सभी पार्टियों के नेता जेठमलानी पर विश्वास करते थे। मशहूर चारा घोटाले में जेठमलानी ने लालू प्रसाद यादव का बचाव किया था।

8. अफ़ज़ल गुरु की फांसी के खिलाफ खड़े हुए – जेठमलानी ने संसद पर हमला करने वाले आतंकवादी अफ़ज़ल गुरु को फांसी दिए जाने का कड़ा विरोध किया था।

9. जयललिता के वकील: आय से अधिक संपत्ति मामले में जेठमलानी ने जयललिता का केस लड़ा था।

X. इसके अलावा हवाला केस में लाल कृष्ण आडवाणी का बचाव, 2G घोटाले में कनिमोझी का, अवैध खनन घोटाले में येदुरप्पा का, रामलीला मैदान रैली मामले में रामदेव का, सेबी मामले में सुब्रत राय और अरुण जेटली बनाम केजरीवाल मान हानि मामले में केजरीवाल का बचाव जेठमालानी ने कोर्ट में किया।

READ:  Coronavirus होने पर घर पर रहकर कैसे इलाज करें?

इस लिस्ट को देखकर अंदाज़ा लगाया जा सकता है की वकालत में जेठमलानी का कोई सानी नहीं था। विवादित केसों में भी उन्होंने तटस्थ रहकर वकालत धर्म निभाया। उनके निधन पर प्रधानमंत्री मोदी ने शोक व्यक्त किया।