विरोध कर रहे जामिया के छात्रों पर दिल्ली पुलिस ने बर्बर तरीके से किया लाठीचार्ज

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट । न्यूज़ डेस्क

केंद्रीय विश्वविद्यालय जामिया मिलिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर दिल्ली पुलिस ने बर्बर तरीके से लाठीचार्ज किया और उन पर आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए। सोशल मीडिया पर कई सारी तस्वीरें और वीडियो वायरल हो रही हैं जिसमें पुलिस द्वारा छात्रों को पीटने और आंसू गैस के गोले छोड़ते हुए देखा जा सकता है।

महाराष्ट्र कैडर के सीनियर आईपीएस अधिकारी ने नागरिकता बिल के विरोध में दिया इस्तीफा

#CAB के विरोध में कानपुर में भारी विरोध प्रदर्शन, पूर्वोत्तर के बाद यूपी में भी विरोध शुरू

जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के हजारों छात्रों ने इस कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। दिल्ली पुलिस ने जवानों ने उनको रोकने की कोशिश की तो उनके बीच में झड़प हो गई। छात्रों के प्रदर्शन को रोकने के लिए पुलिस ने पहले पानी की बौछार की। इसके बाद भी छात्र नहीं माने तो पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा। पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े हैं। पुलिस ने हंगामा करने वाले कई छात्रों को हिरासत में लिया है।

इसके चलते कई छात्रों को गंभीर चोटें आई हैं और उन्हें पास के ही अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इससे पहले छात्रों ने बीते गुरुवार की देर रात इस विधेयक के खिलाफ प्रदर्शन किया और जामिया की सड़क को जाम कर दिया था। आज सुबह से वहां पर छात्र विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। हालांकि बाद में मामला हिंसक हो गई और पत्थरबाजी की भी कुछ रिपोर्ट्स सामने आई हैं। इसके जवाब में पुलिस ने भीड़ को हटाने के लिए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े।