Lasalgaon Onion Market Committee

नासिक: प्याज की नीलामी में शामिल हुई महिला तो पुरुष व्यापारियों ने किया बहिष्कार

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Lasalgaon Onion Market Committee: यह घटना गुरुवार को नासिक में हुई। यहाँ एशिया की सबसे प्रतिष्ठित मार्केट कमेटी( Market Committee) ने महिला संगठन के नीलामी में शामिल होने पर पुरूष व्यापारियों ने नीलामी में भाग लेने से मना कर दिया। यह घटना लासलगांव कृषि उपज मंडी (Lasalgaon Onion Market Committee) में हुई। इस कंपनी की सभापति खुद एक महिला है।

क्या हुआ मार्केट में

इस मार्केट में प्याज़ की नीलामी हो रही थी जहां पहली बार महिलाओं ने नीलामी में भाग लिया। तब महिला संगठन के शामिल होते ही पुरूष व्यापारियों ने उनका बहिष्कार कर दिया। कहने को तो यह अपने को एशिया की सबसे प्रतिष्ठित मार्केट होने का दावा किया करते हैं। यह घटना तब हुई जब इस कृषि उपज मार्केट कमेटी की सभापति भी एक महिला ही है।

मध्य प्रदेश: 35 वर्षीय महिला ने किया नाबालिग लड़के का यौन शोषण

क्यों किया महिला संगठन का बहिष्कार

यहाँ के व्यापारियों ने विरोध इसलिए किया क्योंकि वह व्यापारी महिलाएं इस एसोसिएशन की मेंबर नहीं हैं। लेकिन, साधना जाधव कृषि साधना महिला सहकारी संस्था की निदेशक, नई दिल्ली में इफको(IFFCO) की पहली महिला निदेशक बनीं। साथ ही विंचूर विकास सोसाइटी की अध्यक्ष साधना जाधव को प्याज की खरीद के लिए नैफेड से अनुमति भी दी गई। और महिलाओं के सदस्य न होने से पुरूष व्यापारी भड़क गए।

अधिकार जमाने के लिए व्यापारियों ने सदस्य न होने की दलील दी

READ:  राम मंदिर जमीन पर लगे घोटाले के आरोप, 2 करोड़ की जमीन 18.50 करोड़ में!

हाल ही में मॉडल एक्ट लागू हुआ जिसके तहत कोई भी व्यापारी मार्केट कमेटी में लाइसेंस लेकर कृषि उपज की खरीदारी कर सकता है लेकिन, यह बात पुरूष व्यपारियों को पसंद न आई इसलिए लासलगांव के पुरूष व्यापारियों ने अधिकार जमाए रखने के लिए नई महिला व्यापारियों को एसोसिएशन के सदस्य न होने की दलील देकर विरोध शुरू कर दिया।

Tobacco और Smoking में भारत का नया रिकॉर्ड, टॉप 10 देशों में हुआ शामिल

कब कब बढ़ते हैं प्याज़ के दाम

जब जब नैफेड की खरीददारी होती है प्याज़ के दाम बढ़ते हैं। नैफेड पिछले कई सालों से बहुत सी अलग अलग संस्थाओं से प्याज खरीदता है। ऐसे में हमेशा किसान भी राह देखते हैं कि नैफेड की खरीददारी शुरु हो और प्याज के दाम बढ़े। लेकिन उससे पहले ही व्यापारियों ने महिलाओं का सभा के सदस्य न होने पर विरोध कर नीलामी रुकवा दी।

अध्यक्ष नंदकुमार डागा ने मांगा लाइसेंस का सबूत

नंदकुमार डागा लासलगांव व्यापारी संगठन के अध्यक्ष हैं। उन्होंने कहा कि हमारा विरोध महिला संस्था से बिल्कुल नहीं है, लेकिन हमें नैफेड से मिले प्याज़ खरीद के लाइसेंस का सबूत चाहिए। ऐसे तो हर बाजार में व्यापारियों के एसोसिएशन है। हम मनमानी कर रहे हैं यह कहकर हमें बदनाम न किया जाए।

Central Vista Project: 20 हजार करोड़ रुपये की लागत से बन रहे सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के बारे में 5 खास बातें

अध्यक्ष सुवर्णा जगतपाल ने लिखित मंजूरी दिखाने को कहा

READ:  पथराव से बचने के लिए पुलिस ने सिर पर रखा स्टूल, कई पुलिसकर्मी सस्पेंड!

सुवर्णा जगतपाल जो कि लासलगांव बाजार समिति की अध्यक्ष हैं उन्होंने कहा कि हमें सिर्फ मौखिक रूप से बताया गया है कि कृषि साधना संस्थान नैफेड के लिए प्याज खरीद रही है। अगर यह संस्थान लिखित पत्र लेकर आएगी तो हम इनको नीलामी में शामिल होने की अनुमति दे देंगे।

क्या कहना है साधना जाधव का

साधना जाधव ने कहा है कि हमारी संस्था के पास प्याज़ खरीदने का लाइसेंस है। हम विंचुर में भी प्याज खरीद रहे थे तो सिर्फ यहीं हमे क्यों रोका गया? नैफेड जैसी बड़ी राष्ट्रीय संस्था ने हमें प्याज खरीदने की अनुमति दी है तभी हम नीलामी में शामिल हुए हैं।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

%d bloggers like this: