Home » भारत का लक्षद्वीप कोरोना मुक्त

भारत का लक्षद्वीप कोरोना मुक्त

इंदौर के ज्वैलरी शोरुम में 31 लोग कोरोना संक्रमित
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

जहां भारत में कोरोना वायरस के मामले 10 लाख पार कर चुके हैं, वहीं केंद्र शासित प्रदेश लक्षद्वीप अभी तक कोरोना मुक्त है. लक्षद्वीप भारत का सबसे छोटा केंद्र शासित प्रदेश है, जो कि केरल के कोचिन से लगभग 380 किमी. दूर है. लक्षद्वीप की कुल जनसंख्या 64,473 है. जिसमें से शुरुआती लक्षणों को देखते हुए 61 लोगों का टेस्ट किया गया और सभी टेस्ट के परिणाम निगेटिव आए हैं. जिसके कारण लक्षद्वीप प्रशासन ने केंद्र सरकार से स्कूलों को दोबारा खोलने की अनुमति माँगी है. लक्षद्वीप के स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने लॉकडाउन के शुरुआती दिनों में ही आईलैंड के दूर बसे इलाकों में कोरोना वायरस को लेकर जागरुकता अभियान शुरु कर दिया था.

ALSO REAL : बोलता हुआ गरीब किसे अच्छा लगता है?

लक्षद्वीप के स्वास्थ्य सचिव डॉ एस. सुंदरवादिवेलु के अनुसार, “कोरोना वायरस से संबंधित जानकारियों को आंगनवाड़ी और आशा वर्कर्स ने घर-घर जाकर लोगों तक पहुंचाया है. हल्का बुखार या कोविड के लक्षणों का आभास होने पर इलाज हेतु हेल्पलाइन जारी की गई थी. जिनके भी हेल्पलाइन पर फोन आए, उन सभी के टेस्ट सैंपलों को केरल भेज दिया गया था. सभी टेस्ट के परिणाम निगेटिव आए हैं. कोरोना वायरस से पूर्ण रुप से बचाव के लिए जिन लोगों के टेस्ट किए गए और जो मुख्यभूमि से आए थे, उन सभी को 14 दिनों के लिए होम क्वांरटीन किया गया था. अप्रैल के पहले हफ्ते में कवरत्ती के इंदिरा गांधी अस्पताल की नजदीकी बिल्डिंग को कोविड-19 के लिए अस्पताल में परिवर्तित कर दिया था.”

ALSO READ : कौन हैं कवि वरवर राव और क्यों हैं जेल में बंद ?

READ:  Covid cases may come in third wave, close to 6 lakh daily: Study

“लक्षद्वीप को कोविड मुक्त करने में केरल राज्य का काफी सहयोग है. केरल ने अपने यहां भी कोरोना संक्रमण की दोनों लहरों को नियंत्रण कर लिया था और तीसरी लहर में कोरोना संक्रमण के कारण केरल में मृत्यु दर 1.44 प्रतिशत है. यह तो स्पष्ट है कि राष्ट्रीय ही नहीं बल्कि अंर्तराष्ट्रीय स्तर पर भी केरल कोरोना संक्रमण को रोकने में सफल रहा है,” डॉ एस. सुंदरवादिवेलु,लक्षद्वीप के स्वास्थ्य सचिव ने कहा.

Written By Kirti Rawat, She is Journalism graduate from Indian Institute of Mass Communication New Delhi

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।