Home » किम जोंग उन की हालत नाज़ुक, कौन संभालेगा अब उत्तर कोरिया की सत्ता?

किम जोंग उन की हालत नाज़ुक, कौन संभालेगा अब उत्तर कोरिया की सत्ता?

Kim Jong Un Brain Dead
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | News Desk

अमेरिकी मीडिया में किम जोंग उन के ब्रेन डेड होने की भी अटकलें तेज हो गई हैं। एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिका को खुफिया जानकारी में पता चला है कि उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन सर्जरी के बाद गंभीर खतरे से गुजर रहे हैं। बताया जा रहा है कि उनका कार्डियोवस्कुलर की वजह से इलाज चल रहा था। रिपोर्ट के मुताबिक, किम जोंग उन की सर्जरी की गई थी, मगर इसके बाद उनकी हालत और भी ज्यादा बिगड़ गई है। तानाशाह किम जोंग उन का प्योंगयांग के बाहर हयांगसान के एक विला में इलाज चल रहा है। किम जोंग उन को लेकर अटकलें और तेज उस वक्त हो गई जब वह देश के स्थापना दिवस और अपने स्वर्गीय दादा के 108वें जन्‍मदिन पर होने वाले कार्यक्रम में भी 15 अप्रैल को दिखाई नहीं दिए थे।

डेली एनके ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि तानाशाह किम जोंग की तबीयत बीते कुछ महीनों में ज्यादा खराब हुई है। इसकी वजह है कि बहुत ज्‍यादा स्‍मोकिंग, मोटापे की बीमारी और ज्यादा काम। सीएनएन के मुताबिक, नॉर्थ कोरिया के मीडिया में अब तक किम जोंग की तबीयत को लेकर अब तक कुछ भी प्रकाशित नहीं हुआ है। इसकी वजह है कि वहां मीडिया पूरी तरह से सरकार के नियंत्रण में है। यही वजह है कि यहां से सूचना का इतनी जल्दी आना मुश्किल है।

READ:  What is happening in Sudan?

किम जोंग उन को आखिरी बार सार्वजनिक तौर पर 11 अप्रैल को देखा गया था। जिसमें उन्होंने एक बैठक की अध्यक्षता की थी और कोरोना वायरस को लेकर सख्त जांच के आदेश दिए थे। इतना ही नहीं, वह 14 अप्रैल को मिसाइल के परीक्षण के कार्यक्रम से भी नदारद थे। बता दें कि अपने पिता और दिवंगत नेता किम जोंग-इल की 2011 के आखिर में मृत्यु हो जाने के बाद किम जोंग उन ने उत्तर कोरिया की सत्ता पर काबिज हुए थे। 

किम जोंग उन के बाद कौन संभालेगा उत्तर कोरिया की सत्ता?

किम जोंग उन की छोटी बहन हैं किम यो जोंग। पिछले दो सालों में वह किम के आसपास अक्सर देखी जाती हैं। वह सत्ताधारी वर्कर्स पार्टी की शक्तिशाली केंद्रीय समिति की उपाध्यक्ष हैं। 31 वर्षीय किम यो जोंग अपने भाई और तानाशाह किम जोंग उन की विश्वासपात्र हैं। सत्ताधारी पार्टी पर उनकी मजबूत पकड़ बताई जाती है।

किम जोंग उन अपने परिवार के तीसरी पीढ़ी के नेता हैं। 2011 में पिता किम जोंग  II की हार्ट अटैक से मौत के पिता के बाद किम जोंग जूनियर ने सत्ता संभाली। 1948 में देश के गठन के बाद से ही किम के परिवार का उत्तर कोरिया की सत्ता पर कब्जा रहा है और हर नेता की मौत के बाद इस तरह के सवाल उठे कि अब गद्दी कौन संभालेगा? क्या किम वंश का शासन समाप्त हो जाएगा? लेकिन तीनों ही किम ने इन सवालों को गलत साबित किया है और शासन पर अपनी मजबूत पकड़ कायम रखी। किम जोंग उन के शासन में उत्तर कोरिया ने अमेरिका के विरोध के बावजूद परमाणु हथियार और मिसाइलों से अपनी शक्ति खूब बढ़ा ली है।

READ:  Pakistan continues to be on the grey list, including Turkey

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।