Sat. Jan 25th, 2020

groundreport.in

News That Matters..

केरल: भारी बारिश-बाढ़ से हालात बदतर, 324 की मौत, 2,23,000 लोगों को सेना ने किया रेस्क्यू

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

तिरुअनंतपुरम, 18 अगस्त। केरल में बीते नौ दिनों से भारी बारिश और बाढ़ का दौर जारी है। विकराल रूप धार कर चुकी इस प्राकृतिक आपदा में अब तक 324 लोगों की मौत हो चुकी है। राज्य में गुरुवार को भूस्खलन और बाढ़ चलते 106 लोगों की मौत हो गई थी। भारतीय सेना और एनडीआरएफ की टीमें राहत और बचाव कार्य में जुटी हैं। आंकड़ों के मुताबिक अब तक करीब 2 लाख 23 हजार लोगों को रेस्क्यू कर 1500 राहत शिविरों में पहुंचाया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हवाई यात्रा कर बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया। मुख्यमंत्री विजयन ने लोगों को से मदद की अपील की है। ट्विटर पर मुख्यमंत्री राहत कोष का बैंक खाता नंबर शेयर कर उन्होंने लोगों से आर्थिक मदद करने के लिए कहा है। इस दौरान पंजाब और दिल्ली सरकार ने केरल के लिए 10-10 करोड़ रुपए की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें: केरल में बाढ़ से तबाही, 54 हज़ार लोग बेघर

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी आ गई। पहिए थम गए हैं। पेट्रोल पंप सूखे पड़े हैं। सड़क, रेल और उड़ाने बुरी तरह प्रभावित हैं। राज्य के अधितकर इलाकों में पेयजल संकट की स्थिति बन गई है। रेल के माध्यम से पीने के पानी आपूर्ति की जा रही है। वहीं भारी बारिश के चलते कर्नाटक से केरल के बीच चलने वाली 17 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है।

तथ्यों की माने तो साल 1924 के बाद केरल में आई सबसे भीषण प्राकृतिक आपदा है। मुख्यमंत्री विजयन ने केन्द्र सरकार से 8,316 करोड़ के राहत पैकेज की मांग की थी लेकिन गृहमंत्री ने 100 करोड़ रुपये की मदद का ऐलान किया है। इससे पहले गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई जायजा कर कहा था कि इस मुश्किल घड़ी में केरल के लोगों की पूरी मदद की जाएगी।

यह भी पढ़ें: सेना और NDRF के जांबाज़ कैसे कर रहे हैं केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद, देखिये तस्वीरें

केरल में बारिश और बाढ़ तबाही लेकर आई, 26 साल बाद एशिया के सबसे बड़े बांध इडूक्की के पांचो गेट खोल दिए गए हैं। लोगों को पेरियार नदी के किनारे न जाने की चेतावनी जारी कर दी गई है। 54 हजार से भी ज्यादा लोग बेघर हो गए हैं। कुछ दिन पहले ही 22 बांधों से एक साथ पानी छोड़ा गया है।

समाज और राजनीति की अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर फॉलो करें- www.facebook.com/groundreport.in/

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

SUBSCRIBE