Home » TOP 10: धारा 370 हटने से लेकर अब तक क्या बदला कश्मीर में?

TOP 10: धारा 370 हटने से लेकर अब तक क्या बदला कश्मीर में?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट । न्यूज़ डेस्क

जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने के ऐतिहासिक फैसले के बाद कश्मीर के हालातों पर सभी की नज़र है। हम आपको यहां अब तक राज्य में हुए बड़े घटनाक्रम के बारे में बता रहे हैं:-

1.लद्दाख और जम्मू क्षेत्र से पाबंदियां हटाई गई। कश्मीर के कई इलाकों में लैंडलाईन सेवा शुरु की गई। स्कूल खोले गए लेकिन बच्चे रहे नदारद। सरकारी ऑफिसों का काम सुचारु रुप से शुरु हुआ। सड़कों पर वाहन दिखने लगे।

2. बकरीद के मौके पर राज्य में शांति से नमाज़ अदा की गई। लोगों को कर्फ्यू से राहत दी गई। जिसे ईद के बाद वापस सख्त कर दिया गया। कश्मीर में ईद थोड़ी फीकी रही। लोगों में उत्साह नहीं दिखा। कश्मीर से बाहर रह रहे लोगों ने घर से दूर रहकर ईद मनाई।

3. श्रीनगर के सचिवालय पर केवल तिरंगा लहराया। कश्मीर का अलग झंडा हटाया गया। एक विधान एक निशान का सपना हुआ पूरा। राज्य में कर्फ्यू के बीच स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। अमित शाह ने कश्मीर में फहराया तिरंगा।

4. राज्य में नज़रबंद किए गए नेताओं को राहत नहीं। उमर अबदुल्ला और महबूबा मुफ्ती समेत कई पार्टी के नेताओं को नज़रबंद कर रखा गया। शाह फैज़ल को भी श्रीनगर छोड़ने की कोशिश के बाद नज़र बंद किया गया।

5. पब्लिक सेफ़्टी एक्ट के तहत करीब 4000 लोगों को गिरफ्तार किया गया। सरकार को इन लोगों पर कश्मीर में महौल खराब करने का शक था। अनंतनाग में पत्थरबाज़ों नें एक स्थानीय 45 वर्षीय ड्राईवर को इंडियन आर्मी समझकर मौत के घाट उतार दिया।

READ:  Mother and son hanged themselves : मां बेटे मिले फांसी के फंदे पर लटके, पुलिस ने जताई घरेलू मतभेद की आशंका

6. राज्य में दवाईयों की खपत बढ़ी, कई अस्पतालों में ज़रुरी दवाओं की कमी रही। सरकार ने सभी ज़रुरी दवाओं की आपूर्ती का आश्वासन दिया। और अफवाहों पर ध्यान न देने को कहा। सरकार ने राज्य में इंटरनेट पर पाबंदी जारी रखने का फैसला लिया। इंटरनेट के ज़रिेए अफवाह फैलने का डर।

7. राज्य में संचार सेवा बाधित रहने की वजह से लोकल मीडिया प्रभावित रहा। जिसे लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई। एडिटर्स गिल्ड ने भी राज्य में मीडिया ब्लैकआउट को लेकर चिंता जताई।

8. दादर नगर हवेली से युवा आईएएस अधिकारी कन्नन गोपीनाथन ने कश्मीर में 20 दिन से जारी कर्फ्यू के हालात पर चिंता जताते हुए इस्तीफा दिया। और कहा की यह लोकतंत्र के खिलाफ।

9. राहुल गांधी के नेतृत्व में कई विपक्षी नेताओं ने कश्मीर जाकर हालात जानने की कोशिश की लेकिन उन्हे श्रीनगर एयरपोर्ट से ही वापस भेज दिया गया। राहुल गांधी के बायान को पाकिस्तान ने युनाईटेड नेशन में दाखिल की गई अपनी याचिका में भारत के खिलाफ इस्तेमाला किया। राहुल गांधी ने बाद में पाकिस्तान के इस कदम की निंदा करते हुए कहा की कश्मीर में आतंकवाद के लिए पाकिस्तान ही ज़िम्मेदार।

READ:  Situation getting worst: Non-Locals to get shelter in Army camps

xराज्यपाल सत्यपाल मलिक ने 3 महीने में 50 हज़ार पदों पर युवाओं की भर्ती की घोषणा की और कहा की युवाओं को मिलेगा रोजगार, राज्य जल्द ही तरक्की के रास्ते पर होगा। उधर अक्टूबर में सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ धारा 370 हटाने के खिलाफ दायर की गई याचिकाओं पर सुनवाई शुरु करेगी।