कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल की दरियादिली, अनाथ बच्ची की कराई 1 लाख की एफडी

mohit agrawal ig kanpur orphan girl
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट । न्यूज़ डेस्क

उत्तर प्रदेश पुलिस (UP POLICE) का नाम अच्छी छवी में कम ही देखने को मिलता है। लेकिन आज हमारे गुड न्यूज़ (GOOD NEWS) सेक्शन में जगह बनाई है कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल (Mohit Agrawal) नें जिन्होंने हाल ही में फारुखाबाद (Farukkhabad) में बच्चों को बंधक बनाने वाले दंपति की अनाथ बच्ची की परवरिश करने का जिम्मा उठाया है। आपको बता दें कि फर्रुखाबाद के मोहम्मदाबाद कोतवाली क्षेत्र के गांव करथिया में 30 जनवरी की रात को सुभाष नाम के शख्स ने बच्चे की बर्थडे पार्टी के नाम पर 23 बच्चों को अपने घर बुलाकर तहखाने में 12 घंटों तक बंधक बनाकर रखा था। पुलिस ने अपहरणकर्ता सुभाष को मार गिराया था और सभी बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया था। सुभाष की पत्नी की मौत अस्पताल में हो गई थी। उनकी एक साल की बेटी गौरी की देखभाल की जिम्मेदारी कानपुर परिक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने उठाने का फैसला किया था।

READ:  Video: लखनऊ में कोरोना से बुरा हाल, Bhaisakund में श्मशान ढंकती सरकार

मोहित अग्रवाल मे भाषा को बताया कि-

”प्रदेश सरकार ने फर्रुखाबाद में बच्चों को छुड़ाने वाली पुलिस टीम को 10 लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की थी, जिसमें से एक लाख रुपये मुझे भी मिले थे। मैंने उस धनराशि की FD उस बच्ची गौरी के नाम बनाकर उसकी देखभाल करने वाली फर्रुखाबाद की महिला पुलिसकर्मी रजनी को दे दी है। इसके अलावा मैं बच्ची के दैनिक खर्चे भी उठा रहा हूं। मेरा सपना है कि यह बच्ची बड़ी होकर मेरी तरह IPS अधिकारी बने और इसके लिए जीवन भर मैं इस बच्ची का खर्चा उठाऊंगा।” अग्रवाल ने कहा, ”गौरी को गोद लेने के लिये बंगलौर, दिल्ली जैसे बड़े शहरों से निसंतान दंपत्ति फर्रुखाबाद के जिला प्रोबेशन अधिकारी से पूछताछ कर रहें हैं, मीडिया में ख़बरें आने के बाद अमेरिका और लंदन से भी बच्ची को गोद लेने के लिए लोग फोन कर रहे है।”

आईजी, मोहित अग्रवाल

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।