कानपुर की आबोहवा भी बेहद ज़हरीली, पॉल्यूशन में यूपी में बना नंबर वन

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report । Nehal Rizvi

देश की राजधानी दिल्ली में पॉल्यूशन की चर्चा एक बड़ा मुद्दा बना हुआ है। दिल्ली सरकार हो या केंद्र सरकार दोनों पॉल्यूशन को लेकर कोई सही समाधान ढूंढ़ने में अभी तक नाकाम ही होते दिख रहे हैं। वहीं, दूसरी तरफ़ उत्तर प्रदेश के शहर कानपुर भी इस समय पॉल्यूशन की ज़बरदस्त चपेट में हैं।

बुधवार को एक बार फिर सिटी की आबोहवा ज़हरीली हो गई है। यूपी में कानपुर में सबसे ज्यादा एयर पॉल्यूशन दर्ज हुआ। सेंट्रल पॉल्यूशन कन्ट्रोल बोर्ड के मुताबिक बुधवार को कानपुर की एयर क्वालिटी इंडेक्स वैल्यू 412 रही। वहीं दिल्ली के एक्यूआई वैल्यू 456 दर्ज हुई है।

एटमॉस्फियर में ह्र्यूमिडिटी भी बढ़ती जा रही है। वेडनेसडे को मैक्सिमम ह्र्यूमिडिटी 91 परसेंट रही। यही वजह है कि पॉल्यूशन का लेवल फिर बढ़ गया। हालांकि इस बीच एयर पॉल्यूशन को कम करने के लिए काफी प्रयास किए गए।

फुटपाथ, रोड्स पर पानी का छिड़काव किया गया। साथ ही पैचवर्क किया जा रहा है। बावजूद इसके एयर पॉल्यूशन से कानपुराइट्स को छुटकारा नहीं मिल रहा है। वेडनेस को एक्यूआई 412 तक पहुंच गया। इसका मेन रीजन पार्टिकुलेट मैटर्स (2.5) की अधिकता बताई जा रही है।