Kanpur : हवा में मौजूद हानिकारक गैस और दूषित कणों ने चलते कैंसर के मरीज़ हुए बेहाल

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | Kanpur

हवा में मौजूद हानिकारक गैस और दूषित कणों ने कैंसर रोगियों का दर्द बढ़ा दिया है। उनका आक्सीजन लेवल दिन ब दिन कम कम होता जा रहा है, जिससे उनके सेल्स बनने की प्रक्रिया प्रभावित हो रही है। कीमो और रेडिएशन के बाद सेल्स के लिय आक्सीजन का स्तर सही होना आवश्यक है।

सबसे अधिक समस्या फेफड़ा, नाक, गला, मुख कैंसर रोगियों को हो रही है। जेके कैंसर संस्थान में काफी संख्या में मरीज़ इस तरह की समस्या लेकर आ रहे हैं। डॉक्टर उन्हें सुबह और शाम के समय घर से बाहर न निकलने की सलाह दे रहे हैं।

हानिकारक गैसों का स्तर कम न होने से वायु प्रदूषण अब भी शहरवासियों की सांसों में  ज़हर घोल रहा है। केंद्रीय नियंत्रण बोर्ड की जारी एक रिपोर्ट में कहा है कि वायु गुणवत्ता सूचांक बेहद ख़राब है।

डॉ. दिनेश वर्मा बताते हैं कि वायु प्रदूषण सीधे तौर पर कैंसर के मरीज़ों को प्रभावित नहीं करता है। उनके ठीक होने की दर धीमी हो जाती है। इसी बीच ट्यूमर अधिक सक्रिय हो जाता है। संक्रमण वाले हिस्से में तेज़ी से हमला शुरू कर देता है। कानपुर मंडल में सबसे अधिक मुंख कैंसर के रोगी ही मिलते हैं।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
ALSO READ:  Kanpur: कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट का काम शुरू, राज्य सरकार ने दिये 100 करोड़

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.