Wed. Jan 29th, 2020

groundreport.in

News That Matters..

लालू के सहयोग से लोकसभा की जंग लड़ेंगे कन्हैया कुमार

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

न्यूज़ डेस्क।। जवाहर लाल युनिवर्सिटी के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार लोकसभा का चुनाव लड़ने की तैयारी में है। टाईम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट की अगर मानें तो कन्हैया कुमार बिहार में संभावित महागठबंधन के उम्मीदवार हो सकते हैं। बिहार की बेगुसराय लोकसभा सीट से वो कम्युनिस्ट पार्टी के टिकट
पर चुनाव लड़ सकते हैं। कन्हैया कुमार ने राजनीति में आने की संभावनाओं को शुरु में नकार दिया था। उनका कहना था वो अपनी पीएचडी पूरी कर शिक्षण के क्षेत्र में जाना चाहेंगे।

टाईम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक तेजस्वी यादव और लालू यादव ने बेगुसराय सीट कन्हैया को देने का पूरा मन बना लिया है और कन्हैया ने भी इसके लिए सहमती दे दी है। बेगुसराय सीट पर हमेशा से कम्युनिस्ट पार्टियों का दबदबा रहा है और बिहार में संभावित महागठबंधन में वामपंथी दल भी शामिल होने वाले हैं, ऐसे में कन्हैया से बेहतर उम्मीदवार और कोई नहीं हो सकता।

बेगुसराय सीट का अगर इतिहास उठाकर देखा जाए तो यहां हमेंशा कम्युनिस्ट पार्टियों का ही प्रभुत्व रहा है। 1995 में इस क्षेत्र की पांचो सीट पर कम्युनिस्ट पार्टी ने ही जीत दर्ज की थी। हालांकि 2014 लोकसभा चुनावों में इस सीट पर बीजेपी के उम्मीदवार भोला सिंह की जीत हुई थी। इस बार यह सीट बीजेपी से छीनने की ज़िम्मेदारी कन्हैया को दी जा सकती है। बेगुसराय में भूमिहारों का वर्चस्व रहा है, कन्हैया भी ब्राह्मण-भूमिहार परिवार से ही आते हैं। ऐसे में वोट गणित कन्हैया के पक्ष में जाता दिख रहा है।

कौन है कन्हैया कुमार?

कन्हैया कुमार जवाहर लाल युनिवर्सिटी के पूर्व छात्र हैं। उन्होने हाल ही में अपनी पीएचडी पूरी की है। कन्हैया कुमार को जेएनयू में देशविरोधी नारे लगाने के इल्ज़ाम में गिरफ्तार किया गया था, जिस पर देश में खूब बवाल हुआ था। कन्हैया कुमार बिहार के बेगुसराय जिले के बरौनी ब्लॉक के तहत आने वाली बीहट पंचायत के मूल निवासी हैं। उनके पिता किसान हैं और मॉं एक आंगनबाड़ी में सेविका हैं।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

SUBSCRIBE US