कंगना रनौत के खिलाफ FIR का दर्ज करना का आदेश, पढ़िए पूरा मामला..

कंगना रनौत ने क्यों कर दी मुंबई की POK से तुलना?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कंगना रनौत ने इस बार अपने बयान से एक दिलचस्प स्थिति पैदा कर दी है। उन्होंने मुंबई की तुलना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से कर दी है। इस बयान पर राजनैतिक उबाल आ गया है। सोशल मीडिया पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। कहा जा रहा है कि अगर यह बयान किसी मुस्लिम अभिनेता ने दिया होता तो अब तक उनके पुतले जलने शुरु हो जाते। उन्हें गद्दार और देशद्रोही ठहरा दिया जाता। अब यह समझना काफी दिलचस्प है कि कंगना के साथ देश की जनता इतनी उदार क्यों दिखाई दे रही है।

क्या है मामला?

कंगना रनौत सुशांत सिंह की आत्महत्या पर एक कैंपेन का प्रतिनिधित्व कर रही हैं। सुशांत सिंह की आत्महत्या के बाद उन्होंने काफी मुखर होकर इसे हत्या करार दिया और मीडिया में कई बार बयान देकर पूरी बॉलीवुड इंडस्ट्री को कटघरे में खड़ा किया। इसी को लेकर पिछले कुछ दिनों से वो अपने लिए सुरक्षा की मांग कर रही हैं। इस सिलसिले में वो केंद्र सरकार और पीएम मोदी से भी मदद मांग चुकी हैं।

ALSO READ:  12th anniversary of Mumbai terror attacks today

बीते दिनों उन्होंने कहा था कि वो बॉलीवुड के ड्रग लिंक के बारे में बहुत कुछ जानती हैं वो नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की मदद करना चाहती हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें पूरी सुरक्षा चाहिए। कंगना के इस बयान के बाद बीजेपी नेता राम कदम ने महाराष्ट्र सरकार को ट्वीट करते हुए कंगना की सुरक्षा की मांग की थी। जिसके बाद कंगना ने कहा था कि उन्हें हिमाचल प्रदेश सरकार या केंद्र सरकार से सुरक्षा सुरक्षा चाहिए। मुंबई पुलिस से तो उन्हें खतरा है।

कंगना के बयान के बाद संजय राउत ने उन्हें आड़े हाथों लेते हुए कहा-


मुंबई में रहते हुए मुंबई पुलिस की आलोचना करना और कंगना का ऐसा कहना शर्मनाक है। हम उनसे आग्रह करते हैं कि वो मुंबई न आएं। यह मुंबई पुलिस की बेइज्जती है। गृह मंत्रालय को इस पर एक्शन लेना चाहिए’।

-संजय राउत, शिवसेना प्रवक्ता

संजय राउत के इस बयान पर कंगना ने पलटवार करते हुए ट्वीट किया-


‘शिवसेना लीडर संजय राउत ने मुझे खुले तौर पर धमकी दी है और कहा है कि मैं अब मुंबई वापस ना आऊं। पहले मुंबई की सड़कों पर आजादी के नारे लगाए गए और अब खुली धमकी दी जा रही हैं। मुंबई से पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) जैसी फीलिंग क्यों लग रही है?’

-कंगना रनौत, फिल्म अभिनेत्री

 मुंबई को पीओके बताने के बाद संजय राउत ने फिर से हमला बोला और कहा-


हमको इतना ही काम है क्या. हम लोग फोकट की धमकी देने वाले लोग नहीं हैं। मुंबई में रहकर उसने शोहरत कमाई, पैसा कमाया, मुंबई पुलिस ने उसकी सुरक्षा की और अब वह मुंबई पुलिस पर ही इल्जाम लगा रही है.। मुंबई पुलिस को अगर वह बदनाम कर रही है तो यह सरकार की भी बदनामी है। अगर उन्हें लगता है कि मुंबई पुलिस उसकी सुरक्षा नहीं कर सकती है तो मुंबई में उसकी सुरक्षा करने के लिए हिमाचल की पुलिस तो नहीं आएगी इससे अच्छा है वह हिमाचल में ही रहे।

-संजय राउत, प्रवक्ता शिवसेना

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।