सोशल मीडिया पर उठी सुदीक्षा भाटी के इंसाफ की मुहिम, #JusticeForSudeeksha कर रहा ट्रेंड

सोशल मीडिया पर उठी सुदीक्षा भाटी के इंसाफ की मुहिम, JusticeForSudeeksha कर रहा ट्रेंड
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में बाइक सवार युवकों ने घर जा रही एक छात्रा को इतना परेशान किया कि उसकी बाइक का एक्सीडेंट हो गया और मौके पर ही होनहार छात्रा सुदीक्षा भाटी की मौत हो गई ।

सुदीक्षा भाटी का मामला मीडिया में आने के बाद अब एक बार फ़िर उत्तर प्रदेश की क़ानून व्यवस्था पर सवाल उठने लगे हैं। सोशल मीडिया पर इस होनहार छात्रा की मौत के बाद लोग अपना ग़ुस्सा ज़ाहिर करते हुए #JusticeForSudeeksha की मांग कर रहे हैं।

गौतमबुद्ध नगर के दादरी की रहने वाली सुदीक्षा भाटी एक बेहद ही होनहार छात्रा थीं। वो स्कॉलरशिप पर अमेरिका के बॉब्सन में पढ़ाई कर रही थीं। हाल ही में वो छुट्टियों में घर आई हुई थीं।

READ:  Video: लखनऊ में कोरोना से बुरा हाल, Bhaisakund में श्मशान ढंकती सरकार

कांग्रेस में राहुल गाँधी को बर्दाश्त कर पाना कठिन होने  लगा है?

सुदीक्षा भाटी के परिजनों का आरोप है कि जब बाइक से वह औरंगाबाद जा रहे थे, तब उनकी बाइक का बुलेट सवार दो युवकों ने पीछा किया। कभी युवक अपनी बुलेट को आगे निकालते तो कभी छात्रा पर कमेंट पास करते। इतना ही नहीं, ये सिरफिर चलते-चलते स्टंट भी कर रहे थे।

इसी दौरान अचानक बुलेट सवार युवकों ने अपनी बाइक का ब्रेक लगा दिया और बुलेट की टक्कर सुदीक्षा की बाइक से हो गई। बाइक गिर गई और सुदीक्षा घायल हो गईं। सुदीक्षा ने मौके पर ही दम तोड़ दिया।

सुदीक्षा भाटी ने 2018 में इंटरमीडिएट में बुलंदशहर जनपद में टॉप किया था। HCL की तरफ से 3 करोड़ 80 लाख रुपये की स्कॉलरशिप मिलने पर सुदीक्षा उच्च शिक्षा के लिए अमेरिका चली गई थी। सुदीक्षा अमेरिका के बॉब्सन कॉलेज में भारत सरकार के खर्च पर पढ़ रही थी।

READ:  उत्तर प्रदेश में Coronavirus और Lockdown की बदहाली बताते-बताते कैमरे पर रो पड़ा रिपोर्टर

अस्मिता बचाने को ‘महिला शक्ति की मिसाल’ का जवाब थीं वो दलित महिला

घटना के बाद बुलंदशहर के एसपी सिटी अतुल कुमार श्रीवास्तव ने प्रेस से बातचीत में कहा कि “परिजनों की शिकायत के आधार पर जाँच शुरू कर दी गई थी। अब परिजनों ने छेड़छाड़ की बात है जिसके आधार पर भी जाँच शुरू कर दी गई है। जल्द ही अभियुक्तों का पता लगाकर उनके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जाएगी।”

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।