Prashant Kanojia, Supreme Courte, Uttar Pradesh, Chief Minister yogi adityanath, CM Yogi,

सुप्रीम कोर्ट की योगी सरकार को फटकार, पूछा- किस आधार पर किया गिरफ्तार

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नई दिल्ली, 11 जून। स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी से जुड़े एक मामले में मंगलवार को सुनवाई को करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को फटकार लगाते हुए पूछा कि उन्हें किस आधार पर गिरफ्तार किया है। सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत कनौजिया को तत्काल रिहा करने का आदेश दिया है।

इस मामले में प्रशांत की पत्नी जागिशा अरोरा की ओर से दायर की गई याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि, ‘किसी की राय अलग-अलग हो सकती है, उन्हें (प्रशांत कनौजिया) को शायद उस ट्वीट को लिखना नहीं चाहिए था, लेकिन उन्हें किस आधार पर गिरफ्तार किया गया।’

ALSO READ:  हाथरस गैंगरेप मामले में प्रधानमंत्री मोदी ने लिया संज्ञान, दिए कड़ी कार्रवाई के निर्देश

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि किसी को ‘एक ट्वीट के लिए 11 दिन तक जेल में नहीं रखे सकते हैं।’ सर्वोच्च न्यायालय ने ‘यूपी सरकार से कहा है कि यह कोई हत्या का मामला नहीं है। मजिस्ट्रेट का ऑर्डर सही नहीं है। उसे (प्रशांत कनौजिया) तुरंत रिहा किया जाना चाहिए।’