वो भड़काऊ पोस्ट जिसके चलते ‘पत्रकार’ अली सोहराब (काकावाणी) को यूपी पुलिस ने किया गिरफ़्तार

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report । Nehal Rizvi

बीते दिनों लखनऊ में हुई कमलेश तिवारी की हत्या के बाद से सोशल मीडिया पर लोगों ने बेहद आपत्तिजनक पोस्ट कर प्रदेश का माहोल ख़राब करने की कोशिश की थी।

जिसके बाद  यूपी के डीजीपी ने सोशल मीडिया पर बिगड़ते माहोल पर काबू पाने के लिए पुलिस की अलग टीम बनाकर निगरानी शुरू कर दी। आयोध्या पर आए फ़ैसले के बाद यूपी पुलिस ने पूरे प्रदेश में ताबड़तोड़ गिरफ्तारियां करीं। ताज़ा मामला सोशल मीडिया पर काकावाणी के नाम से चर्चित पत्रकार अली सोहराब का है। जिनको एक आपत्तिजनक पोस्ट करने के चलते गिरफ्तार किया गया है।

सोहराब को ट्रांजिट रिमांड पर लखनऊ ले जाया गया

लखनऊ पुलिस की साइबर क्राइम सेल ने पत्रकार अली सोहराब को ट्विटर पर भड़काऊ पोस्ट करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। अली सोहराब को दिल्ली में नंदनगरी स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया। सोहराब के भाई सब्रे आलम ने उनकी गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

फ़ोटो साभार- सोशल मीडिया

हजरतगंज थाने के सीओ ने बताया कि शनिवार को अली सोहराब को सुन्दर नगरी, थाना नन्द नगरी स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया गया है। कोर्ट में पेश करने के बाद सोहराब को ट्रांजिट रिमांड पर लखनऊ ले जाया गया। सर्विलांस के जरिये ट्वीट भेजने वाले आईपी एड्रेस की डिटेल जुटाई गई। छानबीन में ट्विटर अकाउंट दिल्ली से संचालित किये जाने की जानकारी मिली।

कमलेश तिवारी हत्याकांड पर भड़काऊ पोस्ट करने का आरोप

काकावाणी ट्विटर हैंडल से पोस्ट करने वाले अली सोहराब पर अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले और हिंदू समाज पार्टी के दिवंगत नेता कमलेश तिवारी की हत्या के संबंध में आपत्तिजनक पोस्ट करने का आरोप लगाया गया है। साइबर क्राइम सेल के एक दरोगा ने इस मामले में अली के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में मुकदमा भी दर्ज कराया था।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
ALSO READ:  Vikas Dubey Arrested: विकास दुबे की गिरफ्तारी होते ही उसके ये दो साथी भी चढ़े पुलिस के हत्थे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.