जॉनसन बेबी पाउडर से कैंसर, 6 की मौत, कंपनी पर 32,000 करोड़ रुपये का जुर्माना

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

रिपोर्ट- श्वेता दत्ता

कहते हैं… बच्चे भगवान रूप होते हैं, उनका मन कोमल और पवित्र होता है लेकिन क्या हो अगर इन्हीं नन्हीं कलियों को नुकसान पहुँचाया जाए तो! इंसान खुदपर एक पल को नुकसान सह भी ले लेकिन उसकी संतान पर एक आंच आ जाए तो मन विचलित हो जाता है।

हर माँ-बाप अपने बच्चों को बढ़िया से बढ़िया चीज़ देना चाहते हैं। उनकी परवरिश में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहते, उनके लिए बेहतर और उच्च गुणवत्ता वाली चीजें इस्तेमाल करते हैं, लेकिन जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी के हाल ही में सामने आया एक मामला इस ओर इशारा कर रहा है कि उनके प्रोडक्ट्स बच्चों के लिए हानिकारक हैं।

यह भी पढ़ें: यह भी पढ़ें: KERALA FLOOD: क्योंकि हर ज़िन्दगी है ज़रूरी

नवजात शिशुओं की देखभाल के लिए सबसे पहले जो ब्रांड दिमाग में आता है वो है जॉनसन एंड जॉनसन। ऐसे में इस कंपनी के बेबी पाउडर की वजह से कैंसर होने की बात सामने आना हर शख्स के लिए चिंता की बात है।

READ:  Dussehra Festival Celebration in India: दशहरा क्यों और कैसे मनाया जाता है, क्या है इसके पीछे की कहानी?

अमेरिका के सेंट लुई की अदालत ने जांच के दौरान पाया कि जॉनसन कंपनी के बेबी पाउडर की वजह से ओवेरियन (गर्भाशय) कैंसर हो सकता है। साथ ही अदालत ने कंपनी पर 4.69 अरब डॉलर यानी करीब 32,000 करोड़ रूपये का जुर्माना भी लगाया है।

यह भी पढ़ें: पतंजलि की बिक्री में भारी गिरावट, जानिए कारण

वहीं जॉनसन एंड जॉनसन ने कहा है कि उनका पाउडर सुरक्षित है। उनके पाउडर में एस्बेस्टस या कैंसर पैदा करने वाले तत्व नहीं हैं और वो अदालत के इस फ़ैसले के खिलाफ अपील करेंगे।

इस मामले में 22 पीड़ित महिलाओं का आरोप था कि जॉनसन बेबी पाउडर में मौजूद एस्बेस्टस की वजह से उन्हें गर्भाशय का कैंसर हो गया। इन महिलाओं का कहना है कि कंपनी लोगों को यह चेतावनी देने में विफल रही कि उसके बेबी पाउडर में उच्च स्तर पर एस्बेस्टस है।

READ:  These Bollywood celebrities have suffered from cancer

यह भी पढ़ें: बीते 15 सालों में बच्चों के साथ रेप के 1 लाख 53 हजार मामले दर्ज, मॉब लिंचिंग में 3000 मौत

सालों से इसके रोजाना इस्तेमाल के चलते इन महिलाओं को ओवेरियन कैंसर हुआ। इस पाउडर के इस्तेमाल से अब तक छह महिलाओं की मौत हो चुकी है। ऐसा माना जा रहा है कि कंपनी पर लगने वाला यह अब तक का सबसे बड़ा जुर्माना है।

कंपनी के एग्जीक्यूटिव ने इस बात को नज़र अंदाज़ किया और इसका खामियाज़ा महिलाओं को उठाना पड़ा है। हांलाकि कि जॉनसन कंपनी पर इस तरह के आरोप पहले भी लग चुके हैं और जुर्माना भी लगाया गया था।

यह भी पढ़ें: मंदसौर रेप केस ने थॉमसन रॉयटर्स की रिपोर्ट के दावे को किया पुख्ता, ‘महिलाओं के लिए भारत सबसे अनसेफ’

इससे पहले कुछ इसी तरह के कुछ ऐसे ही एक मामले में कोर्ट ने कैलिफोर्निया निवासी ईवा ईचावेरिया नाम की एक महिला की याचिका पर फैसला सुनाते हुए जॉनसन कंपनी पर 4.17 करोड़ डॉलर यानी करीब 2700 करोड़ का मुआवजा महिला को देने का आदेश दिया था क्योंकि उस महिला को कंपनी द्वारा बनाए गए पाउडर से कैंसर हो गया था।

READ:  COVID-19 वैक्सीन न लेने के कुछ कारण ?

समाज और राजनीति की अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर फॉलो करें- www.facebook.com/groundreport.in/

Comments are closed.

%d bloggers like this: