JNU : हमारे देश में छात्रों से ज़्यादा गायों को सुरक्षा मिलती है : ट्विंकल खन्ना

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट । न्यूज़ डेस्क

जवाहरलाल नेहरू विश्वविधालय (JNU) में 5 जनवरी की शाम रविवार को जेएनयू यूनिवर्सिटी में दर्जनों नकाबपोश हमलावरों ने कैंपस में तोड़फोड़ की, छात्रों-फैकल्टी पर हमला किया। जेएनयू छात्रों पर हुए हमले के बाद सिनेमा जगत की हस्तियां भी खुल कर इस मसले पर अपनी बात रखते दिखाई दे रहे हैं। विपक्षी नेताओं ने भी जमकर सत्तारूढ़ भाजपा पर ज़बानी हमले शुरू कर दिए हैं।

सोनिया गांधी और उद्धव ठाकरे ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है।

सोनिया गांधी ने कहा है कि आज देश में युवाओं और छात्रों की आवाज को दबाया और उनका मज़ाक बनाया जा रहा है। मोदी सरकार की सहमति से गुंडे भारत के युवाओं पर भयावह और अभूतपूर्व हिंसा की गई। युवाओं की आवाज़ को दबाकर गुंडों द्वारा हिंसा को बढ़ावा दिया जा रहा है।


वहीं महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा, “मुझे 26/11 के मुंबई आतंकवादी हमले की याद आ गई। नकाबपोश हमलावर कौन थे, यह तलाश करने के लिए तफ्तीश होनी चाहिए। देश के विद्यार्थियों में डर का माहौल है। हम सभी को एक साथ आकर विद्यार्थियों में आत्मविश्वास भरना होगा। ”

READ:  CM Kejriwal announces weekend curfew in Delhi. Check all details

जवाहरलाल नेहरू विश्वविधालय (JNU) हिंसा के बाद देश में गुस्से का माहौल है। विपक्षी नेताओं से लेकर देश की कई जानी-मानी हस्तियां इस हिंसा पर अपना गुस्सा ज़ाहिर करते हुए सरकार और पुलिस से जवाब तलब कर रहे हैं। पूछा जा रहा है कि आखिर हिंसा के आरोपियों को कब पकड़ा जाएगा?

बॉलीवुड एक्ट्रेस ट्विंकल खन्ना ने भी पुलिस पर उठाए सवाल

बॉलीवुड एक्ट्रेस ट्विंकल खन्ना ने जेएनयू में हुई हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस पर सवाल उछाए हैं। पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है। पुलिस आश्वासन भी दे रही है कि जांच के बाद आरोपियों को पकड़ा जाएगा। लेकिन अभी तक इस मामले में किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। ऐसे में पुलिस की कार्रवाई भी सवालों के घेरे में है।

उन्होंने ट्विटर पर लिखा-

 “भारत, जहां गायों को छात्रों से ज्यादा सुरक्षा प्राप्त है। यह वह देश है जिसने डर में जीने से इनकार कर दिया है। आप हिंसा करके लोगों को दबा नहीं सकते और ज्यादा विरोध होगा, प्रदर्शन ज्यादा होंगे, सड़कों पर ज्यादा लोग उतरेंगे।”।

जेएनयू को लेकर अब हर तरफ़ से आवाज़ उठना शुरू हो गई है। जेएनयू हिंसा को लेकर बॉलीवुड अभिनेता जावेद जाफरी ने ट्वीट करके इस घटना की निंदा की है। उन्होंने हिंसा का जिक्र करते हुए कहा कि पुलिस के रहते हुए जेएनयू कैंपस में स्ट्रीट लाइट बंद करके सैकड़ो नकाबपोश गुंडों ने रॉड और डंडो से लड़कियों, शिक्षक समेत छात्रों को बुरी तरह पीटा है आखिर पुलिस इसे कैसे नियंत्रित नहीं कर पायी।

READ:  IFFCO ने लिया अहम फैसला, किसानों को दी बड़ी राहत

जावेद जाफरी ने जेएनयू घटना पर कहा-

 “हम हिंदुस्तान में नाज़ी युग के उदय के गवाह बन रहे है”। जावेद का मानना है कि हिंदुस्तान नाज़ी युग की तरफ बढ़ रहा है जो इस देश के लिए खतरा है और हम वर्तमान पीढ़ी इस युग की गवाह बन रहे है”।

वर्तमान समय में बॉलीवुड के जाने-माने डॉरेक्टर अनुराग कश्यप अमित शाह और पीएम मोदी पर सबसे ज़्यादा ज़बानी हमले कर रहे रहें। अनुराग लगातार ट्विटर पर गृहमंत्री अमित शाह पर हमलावर से हो गए हैं। जेएनयू में हुई हिंसा के बाद उन्होने एबीवीपी को आतंकवादी संगठन तक लिख दिया। साथ ही पीएम मोदी और अमित शाह को भी इसका ज़िम्मेदार बता दिया।

READ:  प्रशासन की तानाशाही और छात्रों का डीपी विरोध, कब खुलेगा IIMC?

बीजेपी पर अनुराग कश्यप सबसे अधिक हमलावर

इस पर लोगों ने उन्हें घेरना शुरू कर दिया। उनकी भाषा को लेकर सवाल उठने लगे। अनुराग कश्यप ने दोबार ट्वीट करते हुए लिखा, “वो जो नेहरू से लेकर मनमोहन सिंह , हर प्रधानमंत्री को गाली देते है, वो आज मुझे संस्कार सिखा रहे हैं की प्रधान मंत्री को क्या बोलना चाहिए और क्या नहीं । आप ही भाजपा के कार्यकर्ताओं से सीखा है । और आतंकियों के भाषण से सीखा है । उन्हीं के शब्द उन्ही के लिए”।


पटना: आमिर हंज़ला की हत्या में कुछ हिंदुत्ववादी संगठन से जुड़े लोगों का हाथ! पुलिस