जेएनयू हॉस्टल मैनुअल में भारी बदलाव, गरीब छात्रों के लिए विशेष सुविधाएं: MHRD

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट। नई दिल्ली

पिछले 17 दिनों से हॉस्टल फीस बढ़ोतरी का विरोध कर रहे जेएनयू छात्रों की मांगों को एचआरडी मंत्रालय ने पूरी तरह से न मानकर उसमें कुछ बदलाव किए हैं। ये बदलाव आज हुई एक्जीक्यूटिव मीटिंग में किए गए। वहीं दूसरी ओर जेएनयू में छात्रों का प्रदर्शन अभी भी जारी है। आज सुबह से ही छात्र कुलपति दफ्तर के बाहर धरना दे रहे हैं। एचआरडी मिनिस्ट्री ने ट्वीट कर यह जानकारी दी।

लेकिन ये फैसला छात्रसंघ या छात्रों से बातचीत लिए बिना लिया गया। और कई दूसरी मांगो को नजरअंदाज किया गया।

दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में प्रशासन द्वारा फीस बढ़ाने के विरोध में प्रदर्शन जारी है। दो हफ्ते लगातार चलने वाले छात्रों के इस आंदोलन के बाद भी कुलपति एम जगदीश मामिडाला ने छात्रों से मुलाकात नहीं की है।

सोमवार को हज़ारों छात्रों ने जेएनयू में हो रहे दीक्षांत समारोह के बाहर ज़ोरदार प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में सरकार द्वारा दिल्ली पुलिस के सैंकड़ों जवान साथ ही पुलिस के कई अधिकारी और सीआरपीएफ के करीब 600 जवान तैनात किए गए। सोमवार के आंदोलन में पुलिस ने वाटर कैनन भी चलाया और लाठी चार्ज भी हुए। इस बड़े आंदोलन में कई छात्र छात्राओं को चोट भी आयी।

अब देखना ये होगा कि क्या प्रदर्शन कर रहे ये छात्र मंत्रालय द्वारा बदलावों को स्वीकार करेंगे? और क्या ये बदलाव छात्रों के हितों में हैं?