Home » HOME » JNU Fee Hike : 1 जनवरी से नया हॉस्टल मैनुअल लागू, छात्रों ने बताया तानाशाही रवैया

JNU Fee Hike : 1 जनवरी से नया हॉस्टल मैनुअल लागू, छात्रों ने बताया तानाशाही रवैया

JNU NIRF Ranking 2020
Sharing is Important

Ground Report News Desk | New Delhi

जेएनयू यानी जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) में बुधवार यानी 1 जनवरी 2020 से हॉस्टल का नया मैनुअल लागू कर दिया है। इससे पहले जेएनयू प्रशासन की ओर से एक अपील की गई थी जिसमें कहा गया था कि छात्र अपनी हड़ताल खत्म करें और वापस क्लास अटेंड करें।

इससे पहले विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार, स्कूलों के डीन और विशेष केंद्रों के अध्यक्षों की एक बैठक के बाद एक सर्कुलर जारी किया गया था जिसमें छात्रों से आग्रह किया गया था कि, जिन्होंने अपनी ‘मॉनसून सेमेस्टर 2019 की शैक्षणिक आवश्यकताओं’ को पूरा कर लिया है वे बुधवार से 5 जनवरी के दौरान नए सेमेस्टर में रजिट्रेशन करा लें।

READ:  One nation one data, how this will benefit nation?

लेकिन कुछ छात्रों ने बताया कि वे पिछले दो महीने से आंदोलन कर रहे हैं और अभी तक हमारी मांगे नहीं मानी गई है। ऐसे में कुलपति का यह फैसला किसी तानाशाही रवैये से कम नहीं। हम नए सेमेस्टर रजिस्ट्रेशन प्रकिया का बहिष्कार करेंगे।

वहीं, विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से कहा गया है कि, जिन लोगों ने ‘शैक्षणिक आवश्यकताओं’ को पूरा नहीं किया है, उन्हें इस अवधि के दौरान अस्थायी रजिस्ट्रेशन की अनुमति दी जाएगी। अस्थायी रूप से पंजीकृत छात्रों को अपने रजिस्ट्रेशन की वैधता बनाए रखने के लिए 20 जनवरी, 2020 तक ‘शैक्षणिक आवश्यकताओं’ को पूरा करना आवश्यक है।