Home » HOME » जम्मू-कश्मीर: बीजेपी के खिलाफ पीपुल्स अलायंस ने भरी हुंकार, फारुक अब्दुल्ला को गठबंधन की कमान

जम्मू-कश्मीर: बीजेपी के खिलाफ पीपुल्स अलायंस ने भरी हुंकार, फारुक अब्दुल्ला को गठबंधन की कमान

Situation in J&K not normal: Farooq Abdullah
Sharing is Important

आर्टिकल 370 (Article 370) हटने के बाद अब जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir Elections) में चुनावी हलचल तेज हो रही है। जम्मू-कश्मीर की सभी छोटी-बड़ी पार्टी एक जुट होकर चुनाव लड़ रही हैं और अनुच्छेद 370 हटने से पहले राज्य में इस्तेमाल होने वाले झंडे को यह गठबंधन अपने राजनीतिक झंडे के रूप में करेगा। सभी क्षेत्रीय पार्टीयों के गठबंधन का नेतृत्व पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला (Jammu Kashmir Ex Chief Minister Farooq Abdullah) करेंगे और प्रतिद्वंद्वी महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) उनकी डिप्टी होंगी। इस गठबंधन का नाम “पीपुल्स एलायंस” (Peoples Alliance) रखा गया है।

बीते साल मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर के दशकों पुराने विशेष दर्जे और आर्टिकल 370 को खत्म कर इसे दो केंद्र शासित प्रदेशों के रूप में विभाजित कर दिया था। पीपुल्स एलायंस ने कहा है कि वह आगामी चुनाव में एक जुट होकर लड़ेगी और उनका अहम उद्देश्य जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर आर्टिकल 370 को लागू करवाना और शांति स्थापित करवाना है।

READ:  5000 additional troops sent to Jammu and Kashmir

घर पर ही संभव है कोरोना का इलाज, पर बरतें जरूरी सावधानियां

पीपुल्स एलायंस ने 83 वर्षीय नेशनल कांफ्रेंस के नेता अब्दुल्ला को सर्वसम्मति से समूह का अध्यक्ष चुना है। जबकि पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती इसकी उपाध्यक्ष होंगी। वामपंथी नेता मोहम्मद यूसुफ तारिगामी गठबंधन के संयोजक हैं, जबकि पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के सजाद लोन को प्रवक्ता नामित किया गया है।

महागठबंधन बनाने के लिए सालों से चली आ रही कड़वाहट को भुलाने वाले नेताओं ने शनिवार को गठबंधन के गठन के बाद पहली बार महबूबा मुफ्ती के आवास पर मुलाकात की। बैठक के बाद सजाद लोन ने संवाददाताओं से कहा कि यह गठबंधन अनुच्छेद 370 के प्रावधान हटाए के बाद, पिछले एक साल में जम्मू कश्मीर में चल रहे शासन पर एक महीने में श्वेत पत्र लाएगा। उन्होंने कहा कि, यह श्वेत पत्र शब्दों की बुनावट नहीं होगा। यह जम्मू कश्मीर और देश के लोगों के सामने असलियत पेश करने के लिए तथ्यों और आंकड़ों पर आधारित होगा। एक धारणा बनाई जा रही है कि केवल जम्मू कश्मीर में भ्रष्टाचार हुआ था।

READ:  Diwali Wishes in Hindi, 10 Best Diwali greetings and status

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।