Home » HOME » जामिया हिंसा में किसी छात्र की मौत नहीं, 200 से ज़्यादा छात्र घायल: नजमा अख्तर

जामिया हिंसा में किसी छात्र की मौत नहीं, 200 से ज़्यादा छात्र घायल: नजमा अख्तर

Jamia University Violence
Sharing is Important

ग्राउंड रिपोर्ट। न्यूज़ डेस्क

रविवार को जामिया यूनिवर्सिटी में पुलिस के जबरन घुसने और छात्रों से बर्बरता करने के बाद कुलपति नज़मा अख्तर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि कई छात्र घायल हुए हैं। यूनिवर्सिटी की प्रॉपर्टी को नुकसान हुआ है। प्रॉपर्टी के नुकसान की तो भरपाई हो जाएगी। लेकिन छात्रों पर मानसिक प्रताड़ना का प्रभाव जल्दी नहीं जाएगा। इस मामले की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए।

बयान से जुड़ी 5 बड़ी बातें-

1.जामिया यूनिवर्सिटीमें हिंसा के बाद कुलपति नजमा अख्तर ने कहा कि हिंसा में किसी छात्र की मौत नहीं हुई कोई अफवाह न फैलाए। हिंसा में घायल हुए 200 छात्र-छात्राओं की सूची हमारे पास है। 

2.नागरिकता कानून पर प्रदर्शन के दौरान जामिया के छात्रों और पुलिस के बीच झड़प मामले पर जामिया कुलपति नजमा अख्तर ने कहा कि विश्वविद्यालय की संपत्ति को काफी नुकसान पहुंचा है। विश्वविद्यालय परिसर में हम पुलिस की मौजूदगी बर्दाश्त नहीं कर सकते।

READ:  Govt dismisses Pentagon Report on Chinese Construction in Arunachal

3. पुलिस ने बर्बरता से छात्रों को डराया है। उन्होंने आगे कहा कि पुलिस बिना अनुमति के हमारे परिसर में आई थी, छात्र-छात्राएं पढ़ाई कर रहे थे और काम कर रहे थे। 

4. संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और पुलिस कार्रवाई के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराएंगे, हम उच्च स्तरीय जांच चाहते हैं। उन्होंने अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की और कहा कि जामिया को निशाना न बनाएं और इसकी छवि खराब नहीं करें। 

5.जामिया मिल्लिया के रजिस्ट्रार एपी सिद्दिकी ने कैंपस में फायरिंग की बात पर कहा कि हमने ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर और अन्य सीनियर अधिकारियों से बातचीत की और उन्होंने इस अफवाह का खंडन किया। 

READ:  अभिव्यक्ति की आज़ादी पर मंड़राते ख़तरे को पहचानना ज़रूरी…!